सेंसेक्स में 309 अंक की गिरावट

मुंबई| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 26 मार्च 2012 (18:38 IST)
FILE
कोषों की भारी बिकवाली के चलते का सोमवार को 309 अंक से अधिक लुढ़ककर लगभग दो महीने के निचले स्तर पर बंद हुआ।


बाजार सूत्रों का कहना है कि सरकार द्वारा विदेशी निवेशकों को बेचे गए डेरिवेटिव्ज उत्पादों पर अल्पकालिक पूंजी लाभ कर लगाए जाने की संभावना संबंधी रिपोर्टों का असर बाजार धारणा पर पड़ा।

का तीस शेयर आधारित सेंसेक्स आज 308.96 अंक टूटकर 17052.78 अंक पर बंद हुआ। यह 31 जनवरी के बाद का निचला स्तर है। वित्तीय तथा रियल्टी खंड की अगुवाई में सभी प्रमुख शेयरों में गिरावट आई। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 93.95 अंक टूटकर 5184.25 अंक पर बंद हुआ।

बाजार विश्लेषकों का कहना है कि महंगे कच्चे तेल तथा रुपए में कमजोरी का असर बाजार धारणा पर पड़ा। शेयर ब्रोकरों के अनुसार निवेशकों ने इस आशंका में अपने सौदों में बिकवाली की है कि सरकार विदेशी निवेशकों द्वारा पार्टिसिपेटरी नोट्स के जरिए भारतीय इक्विटी बाजार में की गई खरीदारी पर कर लगा सकती है।

कारोबारियों के अनुसार बैंकिंग और ब्याज दरों के मामले में संवेदनशील रियल्टी क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में गिरावट का रुख रहा। हालांकि, सरकार की उधारी के बारे में कार्यक्रम की अभी घोषणा होनी बाकी है। (भाषा)



और भी पढ़ें :