बुरे काम का बुरा नतीजा...

यहूदी संत सिम्शा बुनेन की सीख

WD|
FILE

अपने ढंग से लोगों को शिक्षित करने के लिए विख्यात थे। उनके पड़ोस में एक दुराचारी व्यक्ति रहता था। उसे किसी भी अच्छे काम से जैसे विरोध रहता था। उसकी बुरी आदतों को देख संत सिम्शा बुनेन को बड़ा दुख होता।

वह दुराचारी व्यक्ति शतरंज का शौकीन था। जब सिम्शा को उसके शतरंज का शौकीन होने का पता चला तो एक दिन उन्होंने उसे शतरंज खेलने के लिए बुलाया।



और भी पढ़ें :