...तो गुड्डी में जया के नायक होते अमिताभ

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म ‘गुड्डी’ ने जया भादुड़ी को बतौर अभिनेत्री फिल्म जगत में स्थापित किया लेकिन इस बात की कभी पूरी संभावना थी कि रील से लेकर रीयल लाइफ में उनके जोड़ीदार उनकी पहली फिल्म में भी उनके नायक होते।

अमिताभ ने अपने पर खुलासा किया है कि ‘गुड्डी’ में पहले उन्हें हीरो के तौर पर लिया गया था, लेकिन बाद में निर्देशक ऋषिकेश मुखर्जी ने उन्हें बाहर कर दिया था।

अमिताभ ने लिखा है कि जया की पहली फिल्म ‘गुड्डी’ के निर्माण के दौरान राजेश खन्ना की ‘आनंद’ का प्रदर्शन हुआ। आनंद ने उस समय में बहुत सफलता हासिल की थी। इस फिल्म से सुपरस्टार जैसे शब्द का ईजाद हुआ। उस तरह का क्रेज और दीवानापन फिर देखा नहीं गया।
उन्होंने लिखा है कि आनंद की सफलता ने मुझे भी लोकप्रिय बना दिया और ऋषिकेश दा ने भी इस बात को महसूस किया कि ‘गुड्डी’ के लिए अब जाना-माना चेहरा सही नहीं होगा।

अमिताभ ने लिखा है कि इसके बाद ऋषि दा ने मुझे फिल्म से हटाने का फैसला किया और बंगाली सिनेमा के एक बेहतरीन और मँजे हुए कलाकार समित भंज को जया के नायक के तौर पर ले लिया गया।
उन्होंने लिखा है कि मुझे याद है मैं दक्षिण की एक फिल्म ‘प्यार की कहानी’ की शूटिंग कर रहा था, तभी मुझे ऋषि दा ने फोन कर अपने फैसले की जानकारी दी।

अमिताभ ने लिखा है कि उनके इस फैसले से मुझे झटका लगा, लेकिन उन्होंने मुझे कारण बताया और मैं समझ गया। उन्होंने लिखा है कि ऋषि दा ने मुझसे कहा कि वे मेरे लिए कुछ अच्छा करेंगे।
अमिताभ ने लिखा है कि इसके बाद मैं उसी समय एक और फिल्म ‘परवाना’ की शूटिंग कर रहा था, तब उन्होंने मुझसे कहा कि मैंने तुम्हें नहीं निकाला है और तुम अब भी वहीं हो। उन्होंने ‘परवाना’ का एक शाट गुड्डी फिल्म में डाला। परवाना में मैने खलनायक की भूमिका निभाई थी।



और भी पढ़ें :