गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. खबर-संसार
  2. »
  3. समाचार
  4. »
  5. प्रादेशिक
Written By वार्ता
पुनः संशोधित शुक्रवार, 8 अक्टूबर 2010 (11:12 IST)

समुद्र में गुम हुए 42 लोगों को बचाया

उड़ीसा के धामरा तट के पास बंगाल की खाड़ी में मंगलवार रात से लापता हुए 42 लोगों को गुरुवार की शाम सुरक्षित बचा लिया गया।

भद्रक के अतिरिक्त जिलाधिकारी देवेन्द्र महापात्र ने स्थानीय मछुआरों के हवाले से यहाँ संवाददाताओं को बताया कि सभी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। स्थानीय मछुआरों को लापता लोगों की तलाश में लगाया गया था। समुद्र में गुम हुए लोगों को कोसिया के पास सुरक्षित निकाल लिया गया।

महापात्र ने बताया कि उन लोगों की नौका के इंजन में कुछ तकनीकी खराबी आने पर वे सभी एक मैंग्रोव जंगल के पास रुक गए थे। बाद में मौसम खराब होने और समुद्र में ज्वार की स्थिति उत्पन्न होने के कारण वे सभी वहीं रुक गए। उन्होंने बताया कि 15-16 लोगों की क्षमता वाली इस नौका में आठ बच्चों और दस महिलाओं समेत करीब 45 लोग सवार थे। बासुदेवपुर थानांतर्गत नुआगाँव निवासी ये लोग भगवान शिव के दर्शन के लिए अरादई जा रहे थे जिनमें से तीन यात्री वापस धामरा आ गए थे।

महापात्र ने बताया कि स्थानीय मछुआरों ने अंतिम बार इस नौका को करंजमाला में देखा गया था। नौसेना, तटरक्षक दल और समुद्री पुलिस के जवान खराब मौसम के कारण कल समुद्र में नहीं जा सके। स्थानीय मछुआरों ने सभी लापता लोगों को आज सुबह कोसिया के पास देखा और उन्हें तट पर लेकर आए। (वार्ता)