किसानों का पैसा मंत्री के रिश्तेदार खा गए

राहुल ने लगाया यूपी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप

रमाबाईनगर| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 17 दिसंबर 2011 (20:30 IST)
उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का सीधा आरोप लगाते हुए कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार ने बुंदेलखंड के गरीब किसानों के विकास के लिए पैसा भेजा था न कि प्रदेश के मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दकी के रिश्तेदारों के ट्रैक्टर खरीदने के लिए। उन्होंने कहा कि पैसा सही जगह खर्च नहीं हुआ।

राहुल ने कहा कि इसी तरह केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं के लिए पैसा भेजा था न कि मंत्रियों और अधिकारियों के खाने के लिए। इसके फेर में फंसकर एक मंत्री सीबीआई जांच में फंस गए हैं और अपने को बचाने के लिए दिल्ली तक के चक्कर काट रहे हैं।

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने आज शाम माती मुख्यालय पर कांग्रेस द्वारा आयोजित एक अति पिछड़ा वर्ग रैली को संबोधित कर रहे थे। रैली में उमड़ी भारी भीड़ को देखकर उत्साहित राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को पैसा भेजती है न कि प्रदेश के मंत्रियों और अधिकारियों के खाने के लिए।
उन्होंने कहा कि हमें बड़ा दुख होता है जब प्रदेश की गरीब जनता को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता है। ये प्रदेश के हर वर्ग का नुकसान है। राहुल ने कहा कि बुंदेलखंड के अपनी गरीबी और दुर्दशा की बात लेकर उन तक पहुंचे थे तो उन्होंने प्रधानमंत्री से कहकर बुंदेलखंड के लिए विशेष पैकेज की व्यवस्था कराई थी। लेकिन अब उन्हें मालूम हुआ है कि बुंदेलखंड के विकास का पैसा प्रदेश के लोकनिर्माण मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दकी ने आम किसानों और गरीबों को देने के बजाय अपने रिश्तेदारों को ट्रैक्टर दिलाने में किया है।
राहुल ने कहा कि इसी तरह केंद्र सरकार ने प्रदेश की स्वास्थ्य योजनाओं के लिए करोड़ों रुपए की धनराशि उत्तर प्रदेश सरकार को दी। उस धनराशि को भी राज्य के मंत्री और अधिकारी मिलकर बांटकर खा गए जिसका खामियाजा अब प्रदेश के पूर्व मंत्री को भुगतना पड़ रहा है और वह सीबीआई के चक्कर में फंसकर अपने को बचाने के लिए दिल्ली के चक्कर काट रहे हैं।
राहुल का इशारा पूर्व मंत्री बाबूराम कुशवाहा की तरफ था, लेकिन उन्होंने उनका नाम नहीं लिया। राहुल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कल्याणकारी योजनाओं में पैसा न खर्च होने के कारण यहां के लोगों को रोजगार के लिए अपने परिवार को छोड़कर दिल्ली, मुंबई जैसे शहरों की तरफ भागना पड़ता है।
राहुल ने सवाल किया कि जिन मजदूरों ने दिल्ली में मेट्रो रेल का निर्माण किया है, क्या वे मजदूर उस मेट्रो में चढ़ने की हैसियत रखते है? उन्होंने कहा कि अगर अपने प्रदेश में रोजगार के साधन उपलब्ध होते तो आज प्रदेश की जनता को रोजगार के लिए अपने परिवार और बच्चों को छोड़कर दूसरे प्रदेशों में नहीं जाना पड़ता। राहुल ने कहा कि पिछले 22 वर्ष में प्रदेश में विकास के नाम पर सिर्फ जाति और धर्म की राजनीति हुई है। भाजपा ने धर्म और भगवान के नाम पर प्रदेश को लूटा, समाजवावादी पार्टी ने जाति के नाम पर लूटा और बहुजन समाजवादी पार्टी का हाथी तो केवल पैसा ही खाता है।
राहुल ने प्रदेश की स्थिति तरफ इशारा करते हुए कहा कि पिछले 22 वर्ष में आपने अलग-अलग सरकारों को चुना और उसका नतीजा देख लिया कि आप लगातार पिछड़ते ही जा रहे हैं। अब हम आप से वायदा करते हैं कि पांच वर्ष के लिए कांग्रेस सरकार को मौका दे और उसके बाद आप फर्क को देख ले। आपको रोजगार मांगने के लिए दूसरे प्रदेशों में नहीं जाना पड़ेगा बल्कि दूसरे प्रदेश के लोग यहां उत्तर प्रदेश रोजगार मांगने आएंगे। उन्होंने जनता से कांग्रेस को भारी मतों से जिताने का अनुरोध किया। (भाषा)



और भी पढ़ें :