आडवाणी ने दागे छह सवाल?

नागपुर (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार लालकृष्ण आडवाणी ने रविवार को अध्यक्ष सोनिया गाँधी और प्रधानमंत्री से छह सवालों के जवाब माँगे।


भाजपा की यहाँ राष्ट्रीय कार्यकारिणी और राष्ट्रीय परिषद की बैठक के अंतिम दिन आडवाणी के सोनिया और सिंह पर दागे गए सवाल मुंबई के आतंकवादी हमलों और पाकिस्तान तथा बांग्लादेशी घुसपैठियों के मुद्दे पर केंद्रित रहे।

भाजपा के वरिष्ठ नेता के छह सीधे सवाल कुछ इस तरह हैं-
1. अगर पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री शिवराज पाटिल को अक्षमता के लिए हटाया गया तो पिछले साढ़े चार साल में इस महत्वपूर्ण पद पर उन्हें किसके आदेश पर रोके रखा गया था?

2. संसद पर आतंकवादी हमले के षड्यंत्रकर्ता अफजल गुरु की मौत की सजा को कायम रखने के उच्चतम न्यायालय के निर्णय का कार्यान्वयन क्यों नहीं हुआ?
3. मुंबई के आतंकवादी हमलों के चलते केंद्रीय गृहमंत्री महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की बलि चढ़ाने के बावजूद इस हमले के सभी पहलुओं की पड़ताल के लिए जाँच आयोग गठित क्यों नहीं किया गया?

4. मुंबई हमलों के बाद पाकिस्तान से निपटने के सभी तरह के विकल्प खुले रहने के सरकार के वरिष्ठ पदाधिकारियों के बयानों के बावजूद पड़ोसी देश के खिलाफ पिछले दो महीने में किसी भी कूटनीतिक विकल्प का मजबूती से इस्तेमाल क्यों नहीं किया गया।
5. संप्रग ने सत्ता में आते ही पोटा कानून निरस्त किया, लेकिन मुंबई के आतंकवादी हमलों के आलोक में दो आतंकवाद निरोधी कानून बनाए। क्या सोनिया गाँधी और प्रधानमंत्री यह स्वीकार करेंगे कि चार वर्ष तक आतंकवाद से निपटने के लिए कड़े कानून नहीं बनाने पर अड़े रहना एक बड़ी भूल थी?

6. बांग्लादेशियों की असम तथा अन्य राज्यों में अवैध घुसपैठ पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कानून बनाने के संदर्भ में उच्चतम न्यायालय के निर्देश की यह सरकार तिरस्कारपूर्वक अवमानना क्यों कर रही है?



और भी पढ़ें :