मनमोहन ने राष्ट्रधर्म नहीं निभाया: रामदेव

हरिद्वार| भाषा|
FILE
ने सोमवार को पर राष्ट्रधर्म नहीं निभाने का आरोप लगाया। योग गुरु ने कहा कि उनके मौजूदा के नतीजों का केंद्र सामना नहीं कर पाएगा।


रामदेव ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में पर उनके तथा उनके समर्थकों पर हुई पुलिस की कड़ी कार्रवाई के संदर्भ में कहा कि मैं निजी तौर पर प्रधानमंत्री का सम्मान करता हूं, लेकिन उनके नेता होने के रूप में मैं अब उनका सम्मान नहीं कर पाऊंगा। उन्होंने वह नहीं किया जिसकी उनसे अपेक्षा थी। प्रधानमंत्री ने राष्ट्रधर्म नहीं निभाया। रामलीला मैदान पर कार्रवाई कर प्रधानमंत्री ने एक ही दिन में इतना बड़ा जनाक्रोश खड़ा कर दिया, जो तीन दिन के अनशन के बाद उत्पन्न होता।
योग गुरु ने के दौरान उनकी सुरक्षा करने के लिए विशेषकर अपनी महिला समर्थकों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि मंच और उसके आसपास आंसू गैस के गोले दागना पुलिस का सबसे हिंसक कृत्य था। पुलिस बेकसूर महिलाओं और बच्चों को निशाना बना रही थी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को छोड़कर सभी राजनीतिक दल मेरा समर्थन कर रहे हैं। कुछ दल आलोचना कर रहे हैं, लेकिन मन से वे मेरे साथ हैं। मुझे धार्मिक और आध्यात्मिक संगठनों से समर्थन मिल रहा है।


रामदेव ने आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस यह नहीं चाहती थी कि उसके खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज हो। यही कारण रहा कि दिल्ली के अस्पतालों से उनके समर्थकों को उपचार पूरा होने से पहले ही छुट्टी दे दी गई।
इस बीच, रामदेव समर्थकों ने हरिद्वार में ‘काला दिवस’ मनाया और जुलूस निकालकर केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ नारेबाजी की। (भाषा)



और भी पढ़ें :