आतंकवाद से लड़ने के लिए सैनिकों को प्रशिक्षण

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित रविवार, 28 जून 2009 (19:56 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई जैसे आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए सेना ने विभिन्न स्थानों पर तैनात अपनी इकाइयों को देना शुरू कर दिया है।


सेना के सूत्रों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर क्षेत्रों में जिस प्रकार की स्थिति का हम सामना कर रहे हैं वैसी स्थितियों से निपटने के लिए हमें महसूस हुआ कि शांतिपूर्ण स्थानों पर तैनात हमारी इकाइयों को भी प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए।

सूत्रों ने कहा कि हमारे पास ऐसे सैनिक होने चाहिए जो मुंबई संकट जैसी परिस्थितियों में बंधकों के बचाव अभियान के लिए प्रशिक्षित और उपकरणों से सुसज्जित हों। सेना ने देश भर में मौजूद अपने विशेष बल (एसएफ) की इकाइयों को इस कार्य के लिए प्रशिक्षण देने का जिम्मा सौंपा है।

सूत्रों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर के उग्रवाद प्रभावित इलाकों में अतिवादी परिस्थितियों से निपटने में हमारी एसएफ टुकड़ियों का एक लंबा इतिहास रहा है। इसलिए उन्हें इन कार्यों के लिए नियमित इकाइयों के सैनिकों को प्रशिक्षित और तैयार करने का काम सौंपा गया है।



और भी पढ़ें :