वायुसेना को मिलेंगे एडवांस फाइटर प्लेन

नई दिल्ली| भाषा|
हमें फॉलो करें
सरकार ने कहा कि भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों के कई स्क्वाड्रनों में पुराने पड़ चुके मिग श्रेणी के विमानों को धीरे-धीरे हटा कर उनकी जगह अत्याधुनिक विमानों को शामिल किया जाएगा।


राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान रक्षा मंत्री एके एंटनी ने बताया कि भारतीय वायुसेना के आधुनिकीकरण की प्रक्रिया में पुराने हो चुके विमानों को धीरे-धीरे हटाया जाएगा और उनकी जगह अत्याधुनिक विमानों को शामिल किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पुराने हो चुके मिग श्रेणी के विमानों को 2014 से 2017 के बीच पूरी तरह हटा देने की योजना है। इनकी जगह सुखोई, एलसीए और एमएमआरसीए वायु सेना में शामिल किए जाएँगे। इनकी खरीदी की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया कि कुछ सुखोई विमान वायुसेना में शामिल किए जा चुके हैं।

टीएम सेल्वागणपति के पूरक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि एलसीए का सफलतापूर्वक परीक्षण किया जा चुका है जिसके बाद 20 एलसीए अब तक वायुसेना में शामिल किए गए हैं तथा 20 अन्य को जल्द ही शामिल किया जाएगा।


एंटनी ने बताया कि 120 एमएमआरसीए लड़ाकू विमान खरीदने और जल्द ही इसे वायुसेना में शामिल करने की भी योजना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :