अर्थव्यवस्था की सेहत अच्छी:मनमोहन

महँगाई दर घटकर सात प्रतिशत आएगी

नई दिल्ली| वार्ता|
हमें फॉलो करें
प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह ने आज कहा कि देश की अर्थव्यवस्था की सेहत अच्छी है। चालू वित्त वर्ष के दौरान सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में कम से कम साढ़े आठ प्रतिशत वृद्धि होगी और महँगाई की दर भी मार्च के अंत तक गिरकर सात प्रतिशत के दायरे में आने की संभावना है।


डॉ. सिंह ने अपने निवास स्थान पर टीवी संपादकों के साथ संवाद में कहा कि देश की अर्थव्यवस्था का वैश्विक अर्थव्यवस्था से तेजी से जुड़ाव हो रहा है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महँगाई है और सरकार ने यहाँ इसके प्रभाव को कम से कम करने के लिए हरसंभव कदम उठाए हैं।

डॉ. सिंह ने कहा 'हमारी अर्थव्यवस्था की सेहत अच्छी है। उन्होंने कहा कि यदि केवल महँगाई की चिंता है और इसे काबू में करना है तो कड़े मौद्रिक उपाय कर इसे नीचे लाया जा सकता है किंतु विकास का पहिया तेजी से आगे बढ़े इसके लिए सरकार को चिंतन-मनन करके कदम उठाने पड़ते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विषम वैश्विक परिस्थितियों के बावजूद देश में महँगाई पर लगाम लगाने में सफलता मिली है। जनवरी में मुद्रास्फीति की वार्षिक दर मामूली गिरकर 8.23 प्रतिशत रही है।


एक सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री ने कहा कि बढ़ती कीमतों का गरीबों पर अधिक असर पड़ता है क्योंकि वह अपने खानपान पर आय का 60 प्रतिशत खर्च करते हैं। गरीबों के लिए सरकार ने महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) शुरू की है जिसके तहत श्रमिकों को 100 रुपए रोज पर रोजगार की गारंटी है। इसका उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के साथ तालमेल रहेगा।
सरकार ने सामाजिक सुरक्षा मुहैया कराई है जो छह साल पहले नहीं थी। सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिये उपलब्ध कराए जा रहे खाद्यान्नों की कीमत पिछले आठ वर्ष से नहीं बढ़ाई गई हैं।

आर्थिक सुधारों की गति धीमी पड़ने के संबंध में पूछे गए सवालों पर प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस दिशा में निरंतर कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) इस दिशा में बड़ा कदम है लेकिन राज्य सरकारों से वांछित सहयोग नहीं मिल पाने की वजह से यह अभी लटका हुआ है।
मार्च तक महँगाई घटने की उम्मीद : सिंह ने आज उम्मीद जताई कि चालू वित्त वर्ष के अंत तक महँगाई की दर घटकर सात प्रतिशत के आसपास रह जाएगी। महँगाई के संबंध में कहा कि देश की अर्थव्यवस्था की सेहत काफी अच्छी है और 2010-11 के दौरा सकल घरेलू उत्पादक (जीडीपी) में साढ़े आठ प्रतिशत की वृद्धि की संभावना है। महँगाई के संबंध में डॉ. सिंह ने कहा कि यह इस वर्ष मार्च के अंत तक घटकर सात प्रतिशत के दायरे में आ जाएगी। (वार्ता)



और भी पढ़ें :