संरक्षित स्मारकों में नमाज नहीं-चिदंबरम

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 1 अगस्त 2009 (22:06 IST)
राजधानी दिल्ली में और नमाजियों के बीच गतिरोध के मद्देनजर सरकार ने शनिवार को यह स्पष्ट किया कि मौजूदा 12 स्मारकों के अलावा वह अन्य संरक्षित स्मारकों में नमाज की इजाजत नहीं देगी।

सरकार ने उन 12 स्मारकों को इस दायरे से बाहर रखा है, जहाँ वे वर्षों से नमाज अदा करते आ रहे हैं। गृहमंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि हमने यह बहुत स्पष्ट कर दिया है कि संरक्षित स्मारकों में नमाज की इजाजत नहीं होगी।

कुतुब मीनार की एक मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के बारे में टिप्पणी करने की माँग किए जाने पर चिदंबरम ने यह बात कही। गौरतलब है कि यह स्मारक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित है।
उन्होंने कहा कि केंद्र ने संरक्षित स्मारकों के बारे में शुक्रवार को स्पष्ट तौर पर बता दिया था। चिदंबरम ने संरक्षित जमाली कमाली मस्जिद की कल की घटना का हवाला देते हुए ये बात कही।

गौरतलब है कि दक्षिण दिल्ली में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा संरक्षित मस्जिद में शुक्रवार को लोगों के एक समूह ने शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए जबरन घुसने की कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया था।



और भी पढ़ें :