स्‍कूलों में विज्ञान की शिक्षा पर ध्यान दे भारत

भाषा|
वाशिंगटन 8 जून, भाषा। भारत में विद्यालयीन स्तर पर विज्ञान की शिक्षा की जरूरत बताते हुए प्रख्यात वैज्ञानिक और नोबल पुरस्कार विजेता ने कहा है कि भारत सरकार को बच्चों को आविष्कारों की ओर उन्मुख करने के लिए और प्रयास करने चाहिए।

आल्टमेन के अनुसार भारत उच्च स्तरीय कक्षाओं में वैज्ञानिक शोधों की ओर ज्यादा ध्यान दे रहा है और वहाँ विद्यालयीन स्तर पर इस ओर कोई प्रयास नहीं हो रहे। यह लंबे समय में देश में विज्ञान के भविष्य के लिए अच्छा नहीं होगा।

आरएनए पर अध्ययन के लिए 1989 में रसायन शास्त्र का नोबल पुरस्कार पाने वाले आल्टमेन ने कहा भारत सरकार का ध्यान उच्च माध्यमिक कक्षाओं में विज्ञान शिक्षा पर होना चाहिए। आप विज्ञान और आविष्कारों को छोड़ नहीं सकते। आपको बच्चों को इसके लिए प्रेरित करना होगा।
उन्होंने कहा मैं ग्रामीण क्षेत्रों की बात नहीं कर रहा। यहाँ तक कि बड़े भारतीय शहरों और कस्बों में भी कई विद्यार्थी कालेज से बहुत अच्छे अंकों से पास होते हैं लेकिन वह यह नहीं जानते कि इनका क्या करना है।

आल्टमेन ने कहा उदाहरण के लिए अमेरिका में विद्यालयों और कालेजों में बहुत से विज्ञान मेले आयोजित होते हैं। इसके लिए समय और पैसा चाहिए। उन्होंने कहा कि इन चीजों से बच्चों को आविष्कारों की दिशा में काम करने की प्रेरणा में मिलती है।
आल्टमेन ने कहा कि भारतीय शिक्षा पद्धति पर उनके यह विचार उनकी भारत यात्रा और अमेरिका के भारतीय वैज्ञानिकों से बातचीत पर आधारित हैं।



और भी पढ़ें :