विश्व की 100 शक्तिशाली महिलाओं में माया

मायावती की मायाजाल फोर्ब्स तक फैला

ND
हालाँकि सूची में सोनिया गाँधी का कद पिछले साल के मुकाबले काफी घटा है। पिछले साल इस सूची में वह छठे पायदान पर थीं, लेकिन इस साल सूची में उन्हें 21वें पायदान पर रखा गया है।

वहीं दूसरी ओर उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने 59वें पायदान पर जगह बनाते हुए फोर्ब्स सूची में प्रवेश किया है। सूची में भारतीय मूल की इंद्रा नूई पिछले साल के मुकाबले दो पायदान ऊपर चढ़कर तीसरे पर पहुँच गई हैं। नूई पेप्सिको की प्रमुख हैं।

भारती की अग्रणी बॉयोटेक्नोलाजी कंपनी बायोकान की प्रमुख किरण मजूमदार सूची में 99वें पायदान पर हैं, जबकि सूची में शीर्ष पायदान पर जर्मनी की चांसलर एंजिला मर्केल हैं।

पत्रिका ने सोनिया गाँधी के बारे में लिखा है कि भारत की सबसे शक्तिशाली राजनैतिक पार्टी की नेता सोनिया गाँधी ने वरिष्ठ राजनेता की भूमिका अपना ली है।

फोर्ब्स के मुताबिक यद्यपि वह (सोनिया गाँधी) देश की सत्तारूढ़ पार्टी की मुखिया हैं लेकिन मायावती नाम के एक उभरते सितारे ने देश की सबसे शक्तिशाली महिला को चुनौती देना शुरू कर दिया है।

पत्रिका ने लिखा है कि मायावती के नेतृत्व वाली बसपा ने भारतीय जनता पार्टी से स्वयं को अलग रखा है और कांग्रेस द्वारा अमेरिका के साथ परमाणु समझौते का पुरजोर विरोध किया। फोर्ब्स ने मायावती को प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल नेता बताया।

न्यूयॉर्क (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 28 अगस्त 2008 (18:52 IST)
विश्व की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की जमात में बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) की प्रमुख मायावती भी शामिल हो गई हैं। अमेरिकी पत्रिका फोर्ब्स की इस सूची में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी पहले से ही मौजूद हैं।
सूची में मर्केल के बाद दूसरे नंबर पर फेडरल डिपाजिट इंश्योरेंस कार्प की अध्यक्ष शेइला सी बेयर रहीं।



और भी पढ़ें :