भारतीय बंधक को छुड़ाने का अभियान शुरू

अबुजा (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 8 जुलाई 2009 (20:15 IST)
अशांत नाइजर डेल्टा क्षेत्र में चरमपंथियों द्वारा बंधक बनाए गए रासायनिक टैंकर के चालक दल के पाँच विदेशियों सहित एक भारतीय नाविक को मुक्त कराने के लिए नाइजीरिया की सेना ने शुरू किया है।

ज्वाइंट मिलिट्री फोर्स के प्रवक्ता राबे अबू बकर ने बताया कि उनका बल चालक दल की रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।

उन्होंने कहा कि जहाज ‘सीहेम पीस’ को जेटीएफ ने अपने कब्जे में ले लिया है और इस जहाज के चालक दल का सदस्य एक भारतीय बंजीतसिंह ढींढसा था।

अबु ने कहा कि हालाँकि चालक दल के सदस्य अब भी मूवमेंट फॉर द इमेंसिपेशन ऑफ नाइजर डेल्टा (मेंड) के चरमपंथियों के पास बंधक हैं।

भिखारी बोले- कम से कम एक रुपया!
इरोड (भाषा)
इरोड की भिखारी एसोसिएशन ने जनता से अपील की है कि उन्हें दान में कम से कम एक रुपया दिया जाए।

इरोड के निकट बन्नारी में हुई एसोसिएशन की बैठक में मंगलवार को यह फैसला किया गया। बैठक में सरकार से अपील की गई कि भिखारियों के लिए कुछ कल्याणकारी योजनाएँ चलाई जाएँ। इसके अलावा ‘भिखारी कल्याणकारी बोर्ड’ भी बनाने का फैसला किया गया।
बैठक में बन्नारियम्मन मंदिर के कर्मचारियों की निंदा की गई जो श्रद्धालुओं से दान माँगने वाले भिखारियों को तंग करते हैं। इस संबंध में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि को अपनी दिक्कतों से वाकिफ कराने का भी फैसला किया गया।

सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में बन्नारी, तलवाड़ी, भवानीसागर और सत्यमंगलम के भिखारियों ने भाग लिया।



और भी पढ़ें :