अमेरिका ने कहा, वैश्विक शक्ति बनना चाहता है चीन

भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 22 मार्च 2013 (12:29 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
वाशिंगटन। के एक अधिकारी ने सांसदों से कहा है कि वैश्विक शक्ति बनना चाहता है और चीनी सत्ता फिलहाल इस विषय पर चर्चा में जुटी है कि वह अमेरिका जैसी ‘स्थापित शक्ति’ और अन्य क्षेत्रीय शक्तियों से किस तरह का संबंध रखे।


पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र के कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री जोसेफ युन ने गुरुवार को कांग्रेस की सुनवाई के दौरान कहा कि चीन जाहिर तौर पर वैश्विक भूमिका निभाना चाहता है, इसमें कोई संदेह नहीं है। हमारा विश्वास है कि उसे जिम्मेदार वैश्विक भूमिका निभानी चाहिए।

यह सुनवाई सीनेट विदेश संबंध समिति की पूर्वी एशिया और प्रशांत क्षेत्र से जुड़ी उपसमिति ने आयोजित की थी।

युन ने रिपब्लिकन पार्टी सीनेटर मार्को रूबियो के सवाल के जवाब में कहा कि मेरा मानना है कि चीन में जारी सबसे महत्वपूर्ण चर्चा यह है कि वैश्विक स्तर पर उभर रहे चीन को अमेरिका जैसी स्थापित शक्ति और अन्य क्षेत्रीय शक्तियों के साथ किस तरह से बातचीत में शामिल होना है।


रूबियो ने युन से पूछा कि क्या वे हमें स्थापित शक्ति मानते हैं या कमजोर हो रही शक्ति? युन ने कहा कि मैं कहना चाहूंगा कि वे हमें स्थापित शक्ति मानते हैं।
वर्तमान राष्ट्रपति शी चिनफिंग पिछले साल जब वाशिंगटन आए थे तो उनके एजेंडे में यह बात शामिल थी कि उभरती हुई शक्ति को स्थापित शक्ति के साथ किस तरह से बातचीत करनी चाहिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :