सूक्तियाँ स्वास्थ्य की

ND|
ND

कुछ सूक्तियाँ स्वास्थ्य की। भोजन कपड़ों की तरह होता है। जैसे अलग-अलग तरह के कपड़े अलग-अलग लोगों पर फबते हैं वैसे ही हर व्यक्ति की डाइट अपने शरीर की तासीर के अनुसार होती है। जरूरी नहीं जो दूसरे को जमा, वह आपको भी जम जाए।


मुख स्वास्थ्य सिर्फ दाँतों के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं होता, बल्कि आपका मुख स्वास्थ्य या आपका ओरल हाइजीन कैसा है, इसका प्रभाव शरीर के अन्य अंगों पर भी पड़ता है। दाँतों की नियमित अच्छी सफाई से हृदयाघात का खतरा कम हो जाता है।

आपका ब्लड ग्रुप क्या है इससे भी आपका खान-पान निर्धारित होता है। किसी खास तरह के रक्त समूह वाले को किसी खास खाद्य सामग्री से एलर्जी हो सकती है। कुछ लोग सोचते हैं, तनाव से व्यक्ति दुबला हो जाता है, क्योंकि वह घुलने लगता है। पर ऐसा नहीं है, तनाव में व्यक्ति मोटा भी हो सकता, वह ज्यादा खाने लगता है।
एक व्यक्ति का मेटाबोलिज्म या चयापचय दूसरे व्यक्ति से भिन्न हो सकता है। इसलिए भी आपसी खुराक और उसकी खुराक में अंतर हो सकता है।



और भी पढ़ें :