जनरल नॉलेज : स्वॉर्डफिश के बारे में

नुकीली चोंच वाली स्वॉर्डफिश

ND|
ND
एक हिंसक मछली है, जो काफी ज्यादा प्रवास करती है। इसकी तेज-नुकीली तलवार जैसी चोंच की वजह से ही इसे स्वॉर्डफिश नाम दिया गया है। ये कोल्ड ब्लडेड होती हैं इसलिए सर्दी के मौसम में यह गर्म समुद्रों की ओर और गर्मी में ठंडे पानी की तलाश में प्रवास करती हैं।

इनकी विशेषता होती है कि यह अपने हिसाब से अलग-अलग अंगों को गर्म कर सकती है। बोनी फिश जाति की 25,000 मछलियों में से केवल 22 मछलियों के पास ही यह खूबी है, स्वॉर्डफिश इन्हीं में से एक है। जरूरत पड़ने पर स्वर्डफिश सिर्फ अपने दिमाग और आंखों को गर्म कर सकती हैं जिससे इसे देखने और तैरने में काफी मदद मिल जाती है।

इनका शरीर लंबा और गोलाई लिए होता है। वयस्क होने तक इनके सभी दांत और स्केल्स गिर जाते हैं। स्वॉर्डफिश की अधिकतम लंबाई 455 सेमी और वजन 540 किग्रा तक हो सकता है और जीवनकाल करीब 9 वर्षों का होता है।
स्वॉर्डफिश अकेले ही तैरना पसंद करती हैं। अन्य मछलियों की तरह स्वॉर्डफिश झुंड में नहीं तैरती हैं। तैरते हुए एक स्वॉर्डफिश वहीं तैर रही दूसरी स्वॉर्डफिश से लगभग 10 मीटर की दूरी बनाकर ही तैरती है। इसकी तेज और नुकीली चोंच के कई फायदे हैं।

यह इसे शिकार करने में काफी मददगार होती है। वैसे तो स्वॉर्डफिश के प्राकृतिक शिकारी कम ही हैं, लेकिन जो हैं उन्हें भी इसका शिकार करने के लिए मशक्कत करनी पड़ती है या यूं कहें कि यह कोई आसान शिकार नहीं है। मैको शार्क ऐसे ही कुछ समुद्री जीवों में से है, जो स्वॉर्डफिश का शिकार करने में सक्षम है।
स्वॉर्डफिश दुनियाभर के समुद्रों में पाई जाती है। अपनी स्ट्रीमलाइंड बॉडी और तीखी-नुकीली चोंच की वजह से इसके लिए तैरना काफी आसान हो जाता है। यह काफी तेज़ी से तैरती है, यहां तक कि 80 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से भी तैर सकती हैं।

वैसे तो स्वॉर्डफिश उकसाए बिना इंसानों पर हमला नहीं करती लेकिन वार किए जाने पर यह काफी खतरनाक हो जाती है। स्वॉर्डफिश को पकड़ने के लिए बड़ी चुनौती होती है इसकी स्पीड। जब मछुआरे इसे पकड़ने के लिए इस पर भाले से प्रहार करते हैं तो नाकाम होने पर स्वॉर्डफिश उनकी नावों के तख्तों में छेद तक कर सकती है।
स्वॉर्डफिश व्यंजन के रूप में भी काफी प्रसिद्ध है। दुनियाभर में कमर्शियल फिशरीज़ में स्वॉर्डफिश भी आमतौर पर रखी जाती हैं और इसकी सबसे ज्यादा मांग उत्तरी अमेरिका और योरप में है।



और भी पढ़ें :