खुद को अच्छा बॉयफ्रेंड मानते हैं शाहिद कपूर

शाहिद कपूर
WD


"मौसम" की रिलीज को अब कई दिन बीत गए हैं और समय के साथ शाहिद भी असफलता के दुःख से उबर चुके हैं। बकौल शाहिद, हर शुक्रवार को सभी फिल्मों के साथ एक जैसा ही बर्ताव किया जाता है, फिर चाहे आपने फिल्म के लिए कितनी ही मेहनत की हो।

वे कहते हैं कि जो भी सच्चाई हो आप उसे स्वीकार कर आगे बढ़ें। अभिनय करना उनका जुनून है, इससे उन्हें हमेशा लाइफ में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है, सो वे अब अपना ध्यान आने वाली फिल्मों मंच प्रस्तुतियों पर केन्द्रित कर रहे हैं।

वैसे बी टाउन में अब शाहिद के लिए कॉम्पिटिशन बढ़ गया है। सलमान, आमिर, शाहरुख, अजय और अक्षय अब तक यहां जमे हुए हैं और नई पीढ़ी में रणबीर कपूर, रणवीरसिंह, इमरान खान का सामना भी उनको करना है। लेकिन शाहिद बड़े हिम्मत वाले हैं। वे कहते हैं कि यह कॉम्पीटिशन का जमाना है और वे इससे डरते नहीं। उन्हें खुद पर पूरा विश्वास है कि एक न एक दिन जरूर सबसे बेहतर साबित होंगे।

शाहिद कहते हैं कि अभी मेरे भीतर ऐसा बहुत कुछ है जो मैं लोगों को दिखाना चाहता हूं। मेरी मंशा है कि मैं भांति-भांति के किरदारों को पर्दे पर जीऊं। एक्शन, थ्रिलर, कॉमेडी सब तरह के किरदार निभाने की उनकी ख्वाहिश अभी बाकी है। वे चाहते हैं कि उन्हें जल्द ही यह सब करने का मौका मिले।

"तेरी मेरी कहानी" में शाहिद प्रियंका के साथ नजर आएंगे। यह फिल्म प्रेम कहानी पर आधारित होगी और 1910, 1960 के दौर से गुजरते हुए फिल्म वर्तमान में आएगी। शाहिद प्लॉनिंग करके काम करना पसंद नहीं करते हैं। उन्हें लगता है कि दिमाग से काम लेने पर वे अक्सर उलझ जाते हैं, इसलिए वे दिल की सुनना ज्यादा पसंद करते हैं।

में कुछ नाम ऐसे हैं जो अक्सर प्रेम-प्रसंगों को लेकर चर्चा में रहते हैं। निःसंदेह शाहिद भी उनमें से एक हैं। "प्रेम" की परिभाषा पूछे जाने पर शाहिद प्रेम को शब्दों में बयाँ तो नहीं कर पाते, पर वे कहते हैं कि इसे तो केवल अनुभव किया जा सकता है। साथ ही उनका कहना है कि आप जिससे प्यार करें उस पर भरोसा भी करें।

भले ही रिलेशनशिप के मामले में शाहिद अब तक असफल रहे, लेकिन वे खुद को एक अच्छा बॉयफ्रेंड मानते हैं। हालाँकि इन दिनों उनका स्टेटस सिंगल है पर वे चाहते हैं कि उन्हें जल्द ही अपना प्यार मिल जाए और इस बार उनका प्यार उन्हें छोड़कर न जाए, हमेशा उनका साथ निभाए।
ND|

चॉकलेटी शक्लो-सूरत वाले ने अपनी आखिरी रिलीज "मौसम" में अपना 500 प्रतिशत दिया, फिल्म के लिए उनके पप्पा (निर्देशक पंकज कपूर) ने भी खासा समय खपाया, पैसा लगाया और जी-तोड़ मेहनत की, फिर भी फिल्म फ्लॉप रही। "पाठशाला", "बदमाश कंपनी" और "मौसम" के रिलीज से पहले माना जा रहा था कि आने वाले समय में शाहिद सुपर स्टार होंगे, लेकिन यह कयास भी गलत साबित हुए।

- दीपाली अवस्थी



और भी पढ़ें :