0

गायक अदनान सामी को मिली भारतीय नागरिकता

शनिवार,जनवरी 2, 2016
0
1
अभिनेता रणवीर सिंह का मानना है कि उनकी मित्र दीपिका पादुकोण अपने पुराने प्रेमी रणबीर कपूर के बजाय उनके साथ ज्यादा हॉट लगती हैं।
1
2
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता अभय देओल के पिता और फिल्म उद्योग जगत के दिग्गज कलाकार धर्मेंद्र के छोटे भाई अजीत सिंह देओल का यहां निधन हो गया।
2
3
श्रीदेवी की बेटी जाहन्वी कपूर भी अब फिल्मों में काम करती नजर आ सकती हैं। हाल ही में सुनील शेट्टी की बेटी अथिया शेट्टी और आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली ने फिल्म हीरो से बॉलीवुड में डेब्यू किया। इनके बाद अब श्रीदेवी की बेटी जाह्न्वी कपूर भी ...
3
4
ईशा गुप्ता के पास जन्नत 2, राज 3 जैसे सीक्वल्स हैं और शायद वे इन सीक्वल्स के जरिये ही चमकेंगी। ईशा किंगफिशर गर्ल भी रही हैं।
4
4
5

सबको चाहिए आइटम नंबर

शनिवार,अप्रैल 26, 2014
आजकल युवाओं की दिलों की धड़कन कैटरीना कैफ बन चुकी हैं। बने भी क्यों न उन पर फिल्माया गया आइटम नंबर 'चिकनी चमेली चुपके अकेली'... ने सबका दिल जीत लिया है। चिकनी चमेली अकेला ऐसा आइटम नंबर नहीं है जो युवाओं बल्कि सभी आयु वर्ग को मोहित करता है बल्कि आज ...
5
6
लोग भले ही अभी मल्लिका को इंटरनेशनल सेलिब्रिटी मानें या ना मानें पर वे खुद को किसी इंटरनेशनल सेलिब्रिटी से कम नहीं मानती हैं और अक्सर अपने यूएस के अनुभव भारतीय मीडिया और दोस्तों से शेयर करती हैं। वैसे वे अब यूएस में सैटल होने का सोच रही हैं मगर ...
6
7

फिल्में एक रात की...!

शनिवार,अप्रैल 12, 2014
कहानी रात शुरू होते शुरू होती है और सुबह होते-होते क्लायमेक्स...। ये सही है कि इस तरह की सारी फिल्मों का कथानक आम कथानक से अलग होता है, कुछ में हॉरर का तत्व होता है तो कुछ में सस्पेंस, अंडरवर्ल्ड और अपराध। जाहिर है जब कथाकाल छोटा होगा, तो कथा भी कुछ ...
7
8
कला फिल्म हो, अपराध की पृष्ठभूमि हो या फिर कोई ऐतिहासिक घटना पर आधारित फिल्म हो, बॉलीवुड की हीरोइनें सभी में रुचि से और कुछ नया करने की मंशा से काम कर रही हैं। "चुप चुप के", "एक चालीस की लास्ट लोकल", "शूट आउट एट लोखंडवाला", "दे दनादन", "रात गई बात ...
8
8
9
आने वाले दिनों में 'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई-2' (मिलन लुथारिया, एकता कपूर), 'गैंग ऑफ वासीपुर' (अनुराग कश्यप), 'जन्नत-2' (कुणाल देशमुख, महेश भट्ट), 'शूट आउट एट वडाला' (संजय गुप्ता, एकता कपूर), 'डिपार्टमेंट' (रामगोपाल वर्मा) आदि दर्शकों को परोसी ...
9
10

आनंद मरते नहीं...!

गुरुवार,अप्रैल 5, 2012
मौत के पल-पल करीब आने के अनुभव को जिंदादिली से जीने का नाम है 'आनंद'। हृषिकेश मुखर्जी द्वारा 1971 में निर्मित यह फिल्म क्लासिक का दर्जा पा चुकी है। राजेश खन्ना के 'सुपरस्टार' दौर के शिखर पर तराशा गया यह नायाब हीरा उनके उत्तराधिकारी के तौर पर अमिताभ ...
10
11
शगुफ्ता रफीक... एक ग्लैमरस जिंदगी जीने वाली लड़की, जिसके रास्ते में आए एक हादसे ने न केवल जीने के सहारे पर प्रश्नचिह्न खड़ा किया बल्कि तमाम सुख-सुविधाओं से दूर उसे कड़वी सच्चाइयों के काँटों भरे रास्ते पर जाने के लिए मजबूर कर दिया।
11
12
बॉलीवुड में सोनम कपूर की चर्चा जितनी फिल्मों में अभिनय को लेकर नहीं होती उससे कहीं अधिक 'सोना बेबी' अपने बयानों और 'फैशन सेंस' को लेकर चर्चित रहती हैं। कुछ लोग भले ही सोनम को बड़बोली मानें किन्तु उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता, वे अपनी मर्जी के ...
12
13
मात्र दो फिल्म पुराने रणवीरसिंह को अचानक मीडिया में शाहरुख खान के बाद हिन्दी सिनेमा की सबसे बड़ी खोज कहा जाने लगा है, जबकि न तो वे हीरो के पारंपरिक खाँचे में फिट होते हैं, न फिल्मी परिवार से हैं और न ही फिल्मी दुनिया से उनका कोई प्रत्यक्ष या ...
13
14
अगर सिंगल स्क्रीन थिएटर के दर्शकों को आकर्षित करना है तो उनके लिए 'बॉडीगार्ड' है और अगर मल्टीप्लेक्स में दर्शक बुलाने हैं तो फिर 'आईएम' है। हद तो यह है कि पुरुषों के लिए अलग तरह से फिल्में बनाई जा रही हैं और महिलाओं के लिए अलग तरह से। अब तो युवाओं ...
14
15

अंगूर : 'बहादुर... गैंऽऽऽग...!'

मंगलवार,मार्च 27, 2012
'अंगूर' की बात निराली है। दो-दो कलाकारों का डबल रोल और दोनों का यादगार अभिनय। कसावट भरी पटकथा में कहीं कोई भटकाव नहीं। कॉमेडी के नाम पर न कोई फूहड़ता और न ही केले के छिलके पर किसी को गिराकर दर्शकों को हँसाने की कोशिश। कौन भूल सकता है अशोक की दोहरी ...
15
16
जिस गति से हमारी इंडस्ट्री में बनने वाली फिल्मों की संख्या और उनके बजट बढ़ रहे हैं, उसी गति से मल्टीस्टारर फिल्मों में सितारों की भीड़ भी बढ़ती जा रही है। साजिद खान की आगामी फिल्म 'हाउसफुल-2' जब रिलीज होगी, तब सिनेमाघर हाउसफुल होंगे या नहीं, यह तो वक्त ...
16
17
'प्यासा' का गीतमय क्लाइमेक्स कथा कथन, अभिनय और फोटोग्राफी की उत्कृष्टता का संगम है। साथ ही बेहतरीन गीत, संगीत और गायन तथा इस सबके ऊपर अद्‌भुत कल्पनाशील निर्देशन...। कह सकते हैं कि फिल्ममेकिंग की किताब है 'प्यासा' और इस किताब का महत्वपूर्ण अध्याय है ...
17
18
दीपिका पादुकोण आज भी खुद को एक न्यूकमर ही मानती हैं, क्योंकि उनके अनुसार- जिस दिन आपने ये सोच लिया कि आपको सबकुछ आता है, उस दिन के बाद न तो आप कुछ भी सीख पाते हो, न ही अपने काम का मजा ले पाते हो। इसलिए मैं तो खुद को हमेशा न्यूकमर ही मानना चाहती हूँ।
18
19
रोशन खानदान का नाम रोशन करने वाले सितारों की फेहरिस्त में रितिक रोशन का नाम अव्वल दर्जे पर अंकित हो गया है। अभिनय के मामले में रितिक अपने पप्पा राकेश रोशन से श्रेष्ठ साबित हुए हैं। यहाँ तक कि 'जिंदगी ना मिलेगी दोबारा' और 'अग्निपथ' के हिट होने के बाद ...
19