इसरो की 8 महिला वैज्ञानिक, जिन्होंने रचा इतिहास

WD|
5 एन.वलारमथी - भारत के पहले देशज राडार इमेजिन उपग्रह, रिसेट वन की लांचिंग का एन.वलारमथी ने प्रतिनिधित्व किया है।टी.के अनुराधा के बाद वे इसरो के मिशन की प्रमुख के तौर पर वे दूसरी महिला अधिकारी हैं। 52 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपने प्रदेश तमिलनाडु को गौरवान्वित किया है। एन.वलारमथी ऐसी पहली महिला हैं जो रिमोट सेंसिंग सेटेलाइट में प्रयुक्त मिशन की प्रमुख हैं। 


6 मीनल संपथ - कक्षीय मिशन के लिए दिन में 18 घंटे काम करने वाली मीनल संपथ, इसरो की सिस्टम इंजीनियर के तौर पर 500 वैज्ञानिकों का प्रतिनिधित्व करती हैं। पिछले दो सालों में उन्होंने रविवार और शासकीय अवकाशों को लगभग अलविदा की कह दिया। लेकिन इस समझौते का फल भी उन्हें मंगल मिशन की सफलता के तौर पर सबसे बड़ी खुशी के रूप में मिला।अब उनका अगला लक्ष्य राष्ट्रीय अंतरिक्ष संस्थान में पहली महिला डायरेक्टर बनना है। 


7 कीर्ति फौजदार -  कीर्ति फौजदार इसरो की कम्प्यूटर वैज्ञानिक हैं जो उपग्रह को उनकी सही कक्षा में स्थापित करने के लिए मास्टर कंट्रोल फेसिलिटी पर काम करती हैं। वे उस टीम का हिस्सा हैं, जो उपग्रहों एवं अन्य मिशन पर लगातार अपनी नजर बनाए रखती है। कुछ भी गलत होने पर सुधार का काम वही करती हैं।उनके काम का समय कुछ अनियमित सा है, कभी दिन में तो कभी रात भर। वे बिना डरे शांति से काम करती हैं क्योंकि उन्हें बस अपने काम से प्यार है।कीर्ति भविष्य में इसरो की बेहतर वैज्ञानिक बनने के लिए एम.टेक करना चाहती हैं।
>

8 टेसी थॉमस - टेसी, भारत की वह मिसाइल महिला हैं जिसने अग्नि4 और अग्नि 5 मिशन में प्रमुख सहभागिता दी। टेसी थॉमस इसरो के लि‍ए नहीं बल्कि डीआरडीओ के लिए तकनीकी कार्य करती हैं। लेकिन वे इस लिस्ट में शामिल होने योग्य हैं। यह उनका परिश्रम और समर्पण ही है जो भारत को आईसीबीएमएस के साथ अन्य देशों के खास  समूह का हिस्सा बनाने में सहयोगी रहा। अपनी उपलब्धियों के कारण ही वे मीडिया में अग्निपुत्री के नाम से भी जानी गईं। 
 
वर्तमान में 16 हजार से भी ज्यादा महिलाएं इसरो के लिए काम कर रही हैं और प्रगति कर रही हैं। इस बात की कल्पना आसान है कि इसरो में पूरी तरह से पुरुषों का समावेश है, क्योंकि अब तक इसरो के सभी 7 प्रमुख पुरुष ही रहे। लेकिन सच तो यह है कि हजारों महिलाएं हमारे प्रमुख अंतरिक्ष संस्थान के लिए कठिन परिश्रम कर रही हैं। 

 

और भी पढ़ें :