West Bengal Elections 2021 : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भाषण में किया सौरव गांगुली का जिक्र, BJP को लेकर कही बड़ी बात

Last Updated: मंगलवार, 16 मार्च 2021 (19:17 IST)
कोलकाता। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मिदनापुर में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) का जिक्र अपने भाषण में किया। उनके भाषण को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।
ALSO READ:

MP में व्यापमं-2 घोटाले के खिलाफ रैली निकाल रहे 79 कृषि विद्यार्थी गिरफ्तार
रक्षा मंत्री ने कहा कि जिस तरह गांगुली छक्का मारते हैं, वैसे ही राज्य के लोगों को समर्थन के साथ भाजपा विधानसभा चुनाव में छक्का मारेगी। उन्होंने कहा कि जब सौरव गांगुली क्रीज़ पार करते थे, तब यह मान लिया जाता था कि गांगुली छक्का मारेंगे। वैसे ही लोकसभा में आपके समर्थन की तरह हम क्रीज़ पार करेंगे और विधानसभा चुनावों में छक्का मारकर भाजपा की सरकार बनाएंगे।
कुछ समय पूर्व सौरव गांगुली की भाजपा में शामिल होने की अटकलें काफी तेज हुई थीं। हालांकि भाजपा या फिर सौरव गांगुली ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया था। राजनाथ सिंह ने कानून-व्यवस्था में कथित खामियों को लेकर मंगलवार को ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद विकास और शांति का 'खेला' (खेल) खेला जाएगा।
उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा 294 सदस्यीय विधानसभा की 200 से अधिक सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। सिंह ने पूछा कि दो बार मुख्यमंत्री रहीं बनर्जी ने राज्य की जनता को परेशानियों के अलावा क्या दिया?

उन्होंने यहां पश्चिमी मेदिनीपुर में एक जनसभा के दौरान तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी से 'खेला होबे' (खेल होगा) का मतलब पूछा और कहा कि 'बंगाल में विकास और शांति का खेल खेला जाएगा।' उन्होंने दावा किया कि 2 मई को चुनाव नतीजे आने के बाद 'असोल पोरिबोर्तन' (असली परिवर्तन) देखने को मिलेगा। भाजपा 200 से अधिक सीटों पर जीत हासिल करेगी।'
टीएमसी द्वारा भाजपा को बाहरी लोगों की पार्टी बताए जाने पर छिड़ी बंगाली-बाहरी की बहस की ओर इशारा करते हुए सिंह ने कहा कि आज की भगवा पार्टी जनसंघ का अवतार है, जिसकी स्थापना भूमिपुत्र श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने की थी। सिंह ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी राज्य में कानून-व्यवस्था कायम करने में नाकाम हैं। उन्होंने कहा, 'उत्तरप्रदेश या भाजपा शासित किसी राज्य में जाइये, वहां शांति मिलेगी।'



और भी पढ़ें :