फेंगशुई की ची एनर्जी क्या है? सेहत को देती है क्या फायदा?

south facing house vastu plan
Last Updated: शुक्रवार, 28 जनवरी 2022 (12:25 IST)
हमें फॉलो करें
Chi Energy: फेंग और शुई का शाब्दिक अर्थ है वायु और जल। के टिप्स घर के वायु और जल को सकारात्म दिशा देने वाले होते हैं। यह घर के वातारवण को प्रभावित करता है। फेंगशुई के कई आइटम आजकल बाजार में मिलते हैं। जैसे विंड चाइम, लाफिंग बुद्धा, कछुआ, तीन टांगों वाला मेंढक, मछलीघर, तीन सिक्के, क्रिस्टल-ट्री, बांस का पौधा आदि। आओ जानते हैं कि कैसे करता है लाइफ को प्रभावित फेंगशुई। आओ जानते हैं कि फेंगशुई की ची एनर्जी क्या है और इससे सेहत को कैसे मिलता है फायदा।


ची ऊर्जा क्या है : ची ऊर्जा को यिन और यांग ऊर्जा के साथ जोड़कर देखते हैं। संसार का संचालन- यिन और यांग दो ऊर्जाओं के द्वारा होता है। जब ये दोनों ऊर्जा मिलती हैं तो एनर्जी फ्लो कारती है। इस एनर्जी को ही 'ची' कहा जाता है। यह चीन एनर्जी घर के मुख्‍य द्वार से प्रवेश करती है और घर के मध्य में निवास करती है। अत: चीनी वास्तु के अनुसार प्रवेश द्वार में कोई अवरोध नहीं होना चाहिए और घर का मध्य भाग खाली होना चाहिए। ची ब्राह्मण्ड में रहने वाली ऊर्जा है। यह ऊर्जा समस्त प्राणियों में भी विद्यमान है। यह ऊर्जा सकारात्मक और नाकारात्मक दोनों प्रकार की होती है।

सकारात्मक, स्थिर और प्राण ऊर्जा को ची ऊर्जा कहते हैं। ची ऊर्जा हमे सुख और शांति प्रदान करती है। घर के पंच तत्वों से मिलकर ही ची ऊर्जा का निर्माण होता है। पंच तत्वों के साथ ही धातु और लकड़ी भी ची ऊर्जा के निर्माण में सहयोग करते हैं। फेंगसुई में पांच तत्व होते हैं- जल, लकड़ी, अग्नि, पृथ्वी और धातु। फेंगशुई में इन तत्वों का संतुलन और इनके बीच संबंध बनाया जाता है। असंतुलन से दोष उत्पन्न होता है जिससे मानसिक और शारीरिक सेहत प्रभावित होती है।

ये तत्व 2 चक्रों में चलते हैं- उत्पादक चक्र और विनाशक चक्र। उत्पादक चक्र का क्रम- लकड़ी, आग, पृथ्वी, धातु, जल है, जबकि विनाशक चक्र का क्रम आग, धातु, लकड़ी, पृथ्वी और जल है। इसी क्रम में जल, अग्नि को नष्ट करता है।
Feng shui bagua mirror vastu
पांच तत्वों की दिशाएं निर्धारित हैं-

पूर्व एवं दक्षिण पूर्व: लकड़ी

दक्षिण: आग

दक्षिण-पश्चिम: पृथ्वी

पश्चिम: धातु

उत्तर-पश्चिम: धातु

उत्तर: जल

उत्तर-पूर्व: पृथ्वी

सेहत पर प्रभाव : नकारात्मक ऊर्जा से मन और मस्तिष्‍क पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जो हमारी सेहत के लिए नुकसानदायक है। एक बंद से घर में नकारात्मक ऊर्जाएं अधिक प्रवाहित होती हैं, इसलिए यह अवश्य सुनिश्चित करें कि घर कि सभी दिशाओं तक प्राकृतिक प्रकाश पहुंचे। ची ऊर्जा से व्यतिक्त सेहतमंद बना रहता है और मानसिक स्वास्थय भी अच्छा रहता है। इससे मन में सुख और शांति बनी रहती है।

संतुलन : फेंगशुई के अंतर्गत विभिन्न प्राकृतिक तत्वों का प्रतिनिधित्व करने वाली वस्तुओं को उचित दिशा और स्थान पर रखने से 'ची' यानी कि ऊर्जा का सकारात्मक प्रवाह सुनिश्चित किया जाता है। घर की 'ची' ऊर्जा को संतुलित करने के लिए सबसे अहम चीजों में से एक होती है उचित प्राकृतिक प्रकाश और हवा की व्यवस्था। फेंगशुई इसी संबंध में जानकारी देता है।



और भी पढ़ें :