Tokyo Olympics को लगा $20 बिलियन का झटका, इस बड़ी कार कंपनी ने कैंसल किए अपने सभी विज्ञापन

Last Updated: बुधवार, 21 जुलाई 2021 (14:14 IST)
कोरोना के साये में हो रहे को एक बड़ा कॉमर्शियल झटका लगा है। दरअसल, 2020 के टॉप स्पॉन्सर टोयोटा ने फैसला किया है कि वो ओलंपिक से जुड़ा कोई विज्ञापन टीवी पर नहीं चलाएगा और न ही कंपनी के प्रेसीडेंट अकीयो टोयोडा 23 जुलाई को होने वाली ओपनिंग सेरेमनी में हिस्सा लेंगे।

हालांकि, टोयोटा ने टीवी विज्ञापन को रद्द करने के निर्णय के पीछे सही कारण का खुलासा नहीं किया है। जानकारी के लिए बता दें कि, कंपनी ने एड कैंपेन को 'Start Your Impossible' से पेश किया था। इसे विशेष तौर पर ओलंपिक खेलों के लिए डिजाइनर किया गया था।


इससे पहले टोयोटा के ऑपरेटिंग ऑफिसर जून नगाटा ने कहा कि, ओलंपिक के लिए जापानी नागरिकों के साथ सकारात्मक तालमेल बिठाना मुश्किल होता जा रहा है। नगाटा ने जापानी मीडिया से कहा कि, यह एक ओलंपिक में बदल रहा है जो विभिन्न तरीकों से समझ नहीं आ रहा है।

जापान के सबसे बड़े ऑटोमेकर टोयोटा के शुक्रवार को होने वाले ओलंपिक के उद्घाटन समारोह से ठीक पहले इस फैसले को एक बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है। ओलंपिक और पैरलंपिक में भाग लेने वाले लगभग 200 एथलीट टोयोटा से जुड़े हुए हैं। इसके बात को ध्यान में रखने के बाद भी टोयोटा ने यह फैसला किया।


टोयोटा के इस फैसले के बाद टोक्यो ओलंपिक को लगभग 20 बिलियन डॉलर का भारी नुकसान हुआ है।


जापानी मीडिया के अनुसार, टोक्यो ओलंपिक की ओपनिंग सेरेमनी में ओलंपिक गेम्स ऑफिशियल्स और वीआईपी और प्रायोजकों समेत 1000 लोगों को शामिल होने की अनुमति मिली है। इसमें 60 से ज्यादा कंपनियों ने टोयोटा ओलंपिक में 3.3 मिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया है। टोयोटा ने खुद इसमें 500 मिलियन डॉलर का निवेश किया है।

बता दें कि, साल 2019 में कंपनी ने टोक्यो ओलंपिक के लिए कुल 3,700 मोबिलिटी प्रोडक्ट देने का ऐलान किया था। इसमें 90 फीसदी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स शामिल थी। इसमें एक्सेसबल पीपर मोवर और ई-पैलेट और टोयोटा का Concept-i भी शामिल है।



और भी पढ़ें :