मैक्सवेल से लेकर कमिंस तक, सभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी खेलेंगे आईपीएल 2021

पुनः संशोधित बुधवार, 11 अगस्त 2021 (12:57 IST)
मेलबर्न: संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितंबर से शुरू होने वाले शेष आईपीएल 2021 सत्र में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भाग ले सकते हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और फ्रेंचाइजियों के हलकों से खबर है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की ओर से ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के शेष आईपीएल सत्र में भाग लेने पर कोई रोक नहीं है।

स्टीव स्मिथ, मार्कस स्टॉयनिस, रिले मेरेडिथ, झाई रिचर्डसन, केन रिचर्डसन, माॅइसिस हेनरिक्स और सहित 20 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी इस साल आईपीएल फ्रेंचाइजियों में शामिल हैं। समझा जाता है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इसे खिलाड़ियों की पसंद पर छोड़ दिया है।
अगर खिलाड़ी आईपीएल में खेलना चाहते हैं तो खेल सकते हैं, हालांकि और अन्य कुछ खिलाड़ी अनुपस्थित हो सकते हैं, क्योंकि उन्होंने पहले से ही अनुपलब्ध रहने की घोषणा की थी, जबकि एडम जैम्पा और भी पहले ही बायो-बबल में रहने को लेकर नकारात्मक प्रतिक्रिया दे चुके हैं।
ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की उपस्थिति आईपीएल में अंतरराष्ट्रीय लाइन-अप को पूरा करेगी, क्योंकि अन्य देशों इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, बंगलादेश और वेस्टइंडीज के अधिकतर खिलाड़ी पहले ही अपनी भागीदारी की पुष्टि कर चुके हैं।

इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने वाले देश के सात शीर्ष खिलाड़ियों डेविड वॉर्नर, पैट कमिंस, ग्लेन मैक्सवेल, जाए रिचर्डसन, केन रिचर्डसन, और ने वेस्टइंडीज और बांग्लादेश के आगामी दौरे पर जाने वाली टीम से विभिन्न कारणों से हटने का ऐलान किया था। वहीं पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ को हालांकि कोहनी में चोट के कारण विश्राम दिया गया था।

बांग्लादेश और वेस्टइंडीज में हुई कंगारुओं की धुलाई
ऑस्ट्रेलिया अपने मुख्य खिलाड़ियों के बिना खेल रही थी लेकिन पहले उसे टी-20 विश्वकप की गत विजेता वेस्टइंडीज से 1-4 से हार झेलनी पड़ी और सबसे बड़ा झटका उसको बांग्लादेश दौरे पर लगा। बांग्लादेश ने पहले तो लगातार 3 टी-20 मैच जीते इसके बाद अंत में ऑस्ट्रेलिया को टी-20 में अपने सबसे कम स्कोर 62 पर आउट करने के बाद 4-1 से सीरीज जीती। यह ऑस्ट्रेलिया के लिए टी-20 विश्वकप शुरु होने से पहले एक शर्मिंदगी की तरह है।

कप्तान फिंच ने लटका दी थी तलवार लेकिन कोई असर नहीं
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच ने इशारों ही इशारों में कहा था कि वेस्टइंडीज और बांग्लादेश के दौरो से हटने वाले खिलाड़ियों के लिए अक्टूबर-नवंबर में की टीम से बाहर होने का वास्तविक खतरा है क्योंकि अन्य खिलाड़ी इसके लिए अपना दावा पेश कर सकते हैं।

लेकिन यह दोनों टी-20 सीरीज में दूसरे दर्जे के कंगारू खिलाड़ी खासा प्रदर्शन नहीं कर पाए। कप्तान फिंच की चेतावनी का सीनियर खिलाड़ियों पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने अपने आईपीएल 2021 खेलने की योजना में कोई बदलाव नहीं किया।



और भी पढ़ें :