छवि को ढोते राजा चौधरी

Raja
PR
‘बिग बॉस’ शो में राजा चौधरी गलत वजहों से चर्चाओं में थे और इस शो के खत्म होने के बाद भी वे गलत वजहों से चर्चा में हैं। राजा के लिए मानो ‘बिग बॉस’ खत्म ही नहीं हुआ हो और अभी भी उन पर इसकी खुमारी चढ़ी हुई है।

‘बिग बॉस’ के घर में जाने के पूर्व राजा चौधरी को उनकी पत्नी श्वेता की वजह से जाना जाता था। श्वेता राजा के मुकाबले अधिक लोकप्रिय हैं। साथ ही श्वेता पर उन्होंने जो जुल्म ढाए, इस कारण लोग उन्हें थोड़ा पहचानने लगे थे। राजा की इमेज एक ऐसे पति के रूप में थी जो अपनी पत्नी की लोकप्रियता को बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है और उस पर अत्याचार कर रहा है।

‘बिग बॉस’ शो में राजा ने इसलिए हिस्सा लिया कि उनकी इमेज भी सुधर जाए और उनकी पत्नी भी उन्हें स्वीकार ले। पहले सप्ताह चुपचाप रहने वाले राजा ने धीरे-धीरे इस शो में खलनायकी के तेवर दिखाए।

लगभग प्रत्येक हाउसमेट्स से उन्होंने झगड़ा किया। गाली-गलौज की और अशोभनीय हरकत की। राजा का नाम जब भी नॉमिनेशन में आया, वे बच निकले। बस, राजा ने समझ लिया कि उनकी खलनायकी को देखकर लोग उन्हें वोट दे रहे हैं। जबकि लोग राजा को इसलिए बचा रहे थे क्योंकि वे उन्हें मनोरंजन के लिए मसाला उपलब्ध कराते थे। एक बार ने भी राजा को बचा लिया, जब नॉमिनेशन में उनका नाम के साथ था।

राजा की इमेज मुँहफट, बदतमीज, गुस्सैल इंसान की बन गई और उन्हें भी इसमें मजा आने लगा। पहले वे अपने इस बुरे पक्ष को दिखाने से डरते थे, लेकिन बाद में इसका वे प्रदर्शन करने लगे। अपनी इमेज को ही उन्होंने कामयाबी का राज समझ लिया और शो खत्म होने के बाद भी उनकी भौंडी हरकतें जारी हैं।

पहले संजय निरूपम की पार्टी में उन्होंने शराब पीकर हंगामा किया और हाल ही में एक किन्नर के साथ बदतमीजी करते हुए उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। राजा यह बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं कि उनकी पत्नी ने उन्हें छोड़ दिया है। वे चाहते हैं कि वह उन्हें स्वीकार ले, लेकिन पहल भी वही करे। राजा अपने अहं के कारण पहल करने से हिचक रहे हैं और श्वेता का ध्यान आकर्षित करने की कोशिशों में लगे हुए हैं।

समय ताम्रकर|
हमें फॉलो करें
ये भी संभव है कि राजा ऐसे ही हो, लेकिन हाल ही में उनकी बनी नकारात्मक छवि को उन्होंने कुछ ज्यादा ही गंभीरता से ले लिया है और इस छवि को वे जीने लगे हैं। जरूरत है राजा को इस नई इमेज से छुटकारा पाने की।



और भी पढ़ें :