0

माता के 51 शक्ति पीठ : महशिरा गुजरेश्वरी मंदिर नेपाल शक्तिपीठ-12

गुरुवार,अक्टूबर 15, 2020
0
1
आरती राधाजी की कीजै। टेक... कृष्ण संग जो कर निवासा, कृष्ण करे जिन पर विश्वासा। आरती वृषभानु लली की कीजै। आरती... कृष्णचन्द्र की करी सहाई, मुंह में आनि रूप दिखाई। उस शक्ति की आरती कीजै। आरती... नंद पुत्र से प्रीति बढ़ाई, यमुना तट पर रास
1
2
हरतालिका तीज व्रत का महत्त्व बहुत ज्यादा है। इस व्रत को करने से माता पार्वती और भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है और पति को लंबी आयु, यश तथा प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है।प्रस्तुत है शुभ मंत्र...
2
3
शिव आरती- शिवजी का विशेष पूजन कर रहे हैं तो इस आरती के बिना अधूरी है पूजा। आगे पढ़ें...
3
4
आज 21 अगस्त 2020 को हरतालिका तीज व्रत है,उपरोक्त 3 शुभ मंत्र के साथ मां पार्वती का पूजन करें...
4
4
5
जय पार्वती माता जय पार्वती माता, ब्रह्म सनातन देवी शुभ फल कदा दाता। जय पार्वती माता जय पार्वती माता। अरिकुल पद्मा विनासनी जय सेवक त्राता
5
6
इस दिन अगर कुछ खास उपाय किए जाएं तो कुंवारी लड़कियों को उनका मनचाहा पति मिल सकता है।
6
7
हरतालिका तीज के दिन सुहागिन महिलाओं को सिंदूर, मेहंदी, बिंदी, चूड़ी, काजल सहित सुहाग पिटारा दिया जाता है। आइए जानें हरतालिका तीज पूजा की जरूरी सामग्री...
7
8
हरतालिका तीज सुहागन महिलाएं अपने पति की रक्षा व लंबी उम्र के लिए यह व्रत करती हैं, बालिकाएं भी इच्छित वर के लिए यह व्रत करती हैं। राशि अनुसार शिव व माता पार्वती का पूजन करने से शुभ फल की शीघ्र प्राप्ति होती है।
8
8
9
हरतालिका तीज का व्रत करने से विवाहित महिलाओं को अखंड सौभाग्य प्राप्त होता है...16 तरह की पत्तियों को शिवजी को चढ़ाकर अपने घर में हर प्रकार की वृद्धि का वर मांगती हैं। जानिए, कौन सी पत्तियां चढ़ाएं, हर पत्ती से जुड़ा है विशेष आशीर्वाद...
9
10
यह हरतालिका व्रत कथा शिवजी ने ही मां पार्वती को सुनाई थी। शिव भगवान ने इस कथा में मां पार्वती को उनका पिछला जन्म याद दिलाया था। पढ़ें विस्तार से...
10
11
माता पार्वती का हर रूप बहुत दयालु हैं, इसलिए श्री पार्वती चालीसा से उन्हें प्रसन्न कर सौभाग्य का वरदान पाया जा सकता है...
11
12
यह व्रत भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हस्त नक्षत्र के दिन होता है। इस दिन कुंआरी और सौभाग्यवती स्त्रियां गौरी-शंकर की पूजा करती हैं।
12
13
जैसे नदियों में गंगा, इन्द्रियों में मन, तारों में चंद्रमा श्रेष्ठ है उसी प्रकार यह व्रत सर्वश्रेष्ठ है। हरतालिका तीज के दिन व्रत के साथ शिव जी की आराधना अपने जन्म लग्न के अनुसार करें तो शिव जी अत्यंत प्रसन्न होंगे।
13
14
इस साल हरतालिका तीज 21 अगस्त 2020 को है। हरतालिका तीज को सबसे बड़ी तीज माना जाता है। हरतालिका तीज से पहले हरियाली, कजरी,सातुडी तीज मनाई जाती हैं। इस व्रत को रखने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है।
14
15
हरतालिका तीज 21 अगस्त 2020 को है।सुहागिन महिलाएं भगवान शिव और माता पार्वती से अपने सुहाग की सुख समृद्धि के लिए प्रार्थना करती हैं और उनकी लंबी आयु का वरदान मांगती हैं। ये व्रत निर्जला रखा जाता है।
15
16
तीज की तिथि माता पार्वती की मानी गई है...हरियाली तीज, गणगौर तीज, कजली तीज, सातुड़ी तीज की तरह हरतालिका तीज भी बड़ी तीज होती है। इस व्रत के प्रताप से अखंड सौभाग्य की शुभ प्राप्ति होती है।
16
17
हरतालिका तीज व्रत भगवान शिव और माता पार्वती के पुनर्मिलन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। इस बार यह शुभ व्रत 21अगस्त 2020 को आ रहा है...22 अगस्त को श्री गणेश की स्थापना होगी...हरतालिका तीज व्रत को करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है। विवाह योग्य ...
17
18
भाद्रपद माह में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को उत्तर भारत की महिलाएं हरतालिका तीज व्रत रखती हैं। इस साल यह व्रत 21 अगस्त 2020 को है। इस व्रत में किन किन नियमों का पालन करना चाहिए और इस व्रत को रखने की परंपरा का प्रचलन कैसे प्रारंभ हुआ आओ जानते हैं इस ...
18
19
श्रावण मास में भगवान भोलेनाथ की अर्चना के कई मंत्र और स्तोत्र हैं लेकिन पवित्र बिल्वाष्टकम् उन सबमें सबसे ज्यादा प्रभावशाली है... महादेव शंकर को बिल्व पत्र अर्पित करते हुए इसका पाठ करना चाहिए...अगर बिल्वपत्र उपलब्ध न हो तो चांदी के छोटे बिल्वपत्र ...
19