बाजार में लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में तेजी, वित्तीय शेयर चमके

पुनः संशोधित सोमवार, 24 मई 2021 (19:14 IST)
मुंबई। बैंक और वित्तीय शेयरों में तेजी से सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी लगातार दूसरे कारोबारी सत्र में बढ़त के साथ बंद हुए। कोविड-1कोरोनावायरस (Coronavirus) 9 संक्रमण के दैनिक मामलों में लगातार कमी से निवेशक थोड़ी राहत महसूस कर रहे हैं।
कारोबारियों के अनुसार वैश्विक स्तर पर मिलेजुले रुख और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपए की विनिमय दर में गिरावट से बाजार में तेजी पर अंकुश लगा। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 111.42 अंक यानी 0.22 प्रतिशत की मजबूती के साथ 50,651.90 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 22.40 अंक यानी 0.15 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,197.70 अंक पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के शेयरों में 2.73 प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में एसबीआई (भारतीय स्टेट बैंक) रहा। इसके अलावा एल एंड टी, एक्सिस बैंक, पावर ग्रिड, आईटीसी, मारुति, डॉ. रेड्डीज और एचडीएफसी के शेयरों में भी अच्छी तेजी रही।

बाजार में ज्यादातर तेजी का कारण अच्छी हिस्सेदारी रखने वाले एचडीएफसी बैंक और एचडीएफसी लि. में मजबूती है। दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एचयूएल अल्ट्राटेक सीमेंट और बजाज फिनसर्व आदि शेयर 1.22 प्रतिशत तक नुकसान में रहे।

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि वैश्विक स्तर पर मिलेजुले रुख के बावजूद घरेलू में तेजी रही। इसका प्रमुख कारण दैनिक आधार पर कोविड-19 संक्रमण के मामले में लगातार कमी आना है। इससे निवेशकों की धारणा मजबूत हुई है।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर के अनुसार, कोविड संक्रमण के नए मामलों में लगातार कमी और इसकी रोकथाम के लिए लगाए गए ‘लॉकडाउन’ के जल्दी ही हटाए जाने की उम्मीद से घरेलू शेयर बाजार में तेजी आई।

कंपनियों के सकारात्मक तिमाही परिणाम और संपत्ति गुणवत्ता को लेकर चिंता कम होने से बैंक शेयर निवेशकों को आकर्षित कर रहे हैं। मझोली और लघु कंपनियों के शेयरों का प्रदर्शन भी बेहतर रहा।उन्होंने कहा, वैश्विक स्तर पर ब्रिटेन और अमेरिकी विनिर्माण पीएमआई आंकड़े रिकॉर्ड ऊंचाइ पर रहे। हालांकि निवेशकों को मौद्रिक नीति की दिशा को लेकर मुद्रास्फीति के आंकड़ों की प्रतीक्षा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार सुबह जारी आंकड़े के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 2,22,315 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,67,52,447 हो गई। पिछले 38 दिनों में एक दिन में सामने आए संक्रमण के ये सबसे कम नए मामले हैं।

वहीं संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या तीन लाख के पार पहुंच गई है। क्षेत्रवार सूचकांकों में बीएसई पावर, तेल एवं गैस, रियल्टी, पूंजीगत सामान और औद्योगिक सूचकांकों में 1.89 प्रतिशत की तेजी आई, जबकि दूरसंचार, धातु, दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों (एफएमसीजी) और टिकाऊ उपभोक्ता सामान बनाने वाली कंपनियों के शेयरों के सूचकांक नुकसान में रहे।

वैश्विक बाजारों में मिलाजुला रुख रहा। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई और टोक्यो लाभ में रहे, जबकि हांगकांग और सोल नुकसान के साथ बंद हुए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में लाभ का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.81 प्रतिशत मजबूत होकर 67.55 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे टूटकर 72.96 पर बंद हुआ।(भाषा)



और भी पढ़ें :