पाकिस्तान दौरे पर गई कबड्डी टीम की जांच करेगा खेल मंत्रालय...

पुनः संशोधित मंगलवार, 11 फ़रवरी 2020 (20:21 IST)
नई दिल्ली। में एक सर्कल शैली के में ‘अनधिकृत’ तौर पर की भागीदारी की जांच पर विचार कर रहा है। खेल मंत्रालय के मुताबिक लगभग 45 खिलाड़ी और 12 अधिकारी बिना किसी आधिकारिक अनुमति या मंजूरी के पड़ोसी देश गए हैं।

खेल मंत्रालय के सूत्र ने कहा, ‘मंत्री (किरेन रीजीजू) इस मामले की जांच शुरू करवाने वाले हैं।’ अन्य सूत्र ने बताया, ‘कोई भी अनुशासनात्मक कार्रवाई खिलाड़ियों के वापस आने के बाद ही शुरू होगी।’

सर्कल शैली की कबड्डी, सामान्य शैली से अलग तरह से खेली जाती है। एशियाई खेलों में अधिकृत सामान्य शैली की कबड्डी में दोनों टीमों में 80 किग्रा से कम वजन वाले 7-7 खिलाड़ी होते हैं। सर्कल शैली में वजन का कोई पैमाना नहीं होता है और वृताकार मैदान में खेले जाने वाले इस प्रारूप में दोनों टीमों में 8-8 खिलाड़ी होते हैं।

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने सोमवार को कहा कि उसने विश्व स्तर के टूर्नामेंट के लिए किसी भी कबड्डी टीम के पाकिस्तान दौरे को मंजूरी नहीं दी है।

चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिए भारत से दल शनिवार को वाघा बार्डर के जरिए लाहौर पहुंचा जिसका आयोजन पहली बार पाकिस्तान में किया जा रहा है। टीम के वहां पहुंचने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी तस्वीरें वायरल हुई जिससे भारतीय खेल जगत में हलचल मच गई।

अंतरराष्ट्रीय कबड्डी महासंघ (आईकेएफ) के अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत ने कहा कि टूर्नामेंट को शीर्ष निकाय द्वारा मान्यता नहीं दी गई है। गहलोत ने कहा, ‘यह फर्जी टूर्नामेंट है, इसमें फर्जी खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान में खेले जा रहे सर्कल विश्व कप में भाग ले रहे ऑस्ट्रेलिया और कनाडा जैसे देश अंतरराष्ट्रीय महासंघ से मान्यता प्राप्त नहीं है। इन देशों में सर्कल कबड्डी नहीं खेला जाता इसलिए ये फर्जी खिलाड़ी इन देशों का नेतृत्व कर रहे हैं।’

भारतीय एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई) ने दावा किया कि उन्होंने किसी भी खिलाड़ी को पाकिस्तान में खेलने की मंजूरी नहीं दी है। इस मामले में पंजाब कबड्डी संघ की भूमिका पर भी सवाल उठ रहा है क्योंकि टूर्नामेंट में भाग लेने गए लगभग सभी खिलाड़ी राज्य संघ से पंजीकृत है। राज्य संघ के पास खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भेजने का अधिकार नहीं है।

पाकिस्तान एमेच्योर सर्कल कबड्डी महासंघ (पीएसीकेएफ) ने दावा किया कि कई भारतीय खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और कनाडा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इस बीच गहलोत का एक पत्र सामने आया है जिसमें उन्होंने अध्यक्ष के तौर पर पाकिस्तान को इस टूर्नामेंट के आयोजन की मंजूरी दी है। यह पत्र पाकिस्तान कबड्डी महासंघ के अध्यक्ष मोहम्मद सरवर राणा को भेजा गया था।

गहलोत से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान महासंघ ने एक पत्र भेजकर टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए मंजूरी मांगी और आईकेएफ ने इसकी मंजूरी दी। मैंने अध्यक्ष के रूप में इसकी स्वीकृति दी। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘अगर हमारा कोई सदस्य टूर्नामेंट का आयोजन करना चाहता है तो हम मंजूरी देते है। हमें कैसे पता चलेगा कि इस तरह की परिस्थितियां आएंगी।’




और भी पढ़ें :