मंगलवार, 7 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. अन्य खेल
  3. समाचार
  4. Saina Nehwal
Written By
पुनः संशोधित रविवार, 16 नवंबर 2014 (18:18 IST)

यह मेरी सबसे कठिन जीत में से एक : साइना

फुजोऊ। ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने रविवार को चाइना ओपन सुपर सीरीज प्रीमियर में मिली खिताबी जीत को अपनी ‘सबसे मुश्किल’ जीतों में से एक बताते हुए  कहा कि इससे पता चलता है कि उन्हें अपनी कड़ी मेहनत का फल मिल रहा है।
विश्व की 5वें नंबर की खिलाड़ी साइना ने अपने अनुभव का अच्छा इस्तेमाल करते हुए जापान की  अकाने यामागुची को 21-12, 22-20 से हराकर 7,00,000 डॉलर की इनामी राशि वाले चाइना  ओपन में महिलाओं का एकल खिताब अपने नाम किया।
 
साइना ने कहा कि मैं यह खिताब जीतकर बहुत खुश हूं। यह इस सीजन का मेरा तीसरा खिताब है।  यह मेरी सबसे मुश्किल जीतों में से एक है। मैं पिछले कुछ महीनों से कड़ी मेहनत कर रही हूं और  मैं बहुत खुश हूं कि मुझे अपने प्रयासों का फल मिला।
 
उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए आसान नहीं था। विमल सर (कुमार) ने मेरी बहुत मदद की और यह  एक बड़ी जीत है और चीन में खिताब जीतकर बहुत अच्छा महसूस हो रहा है।
 
अपनी जापानी प्रतिद्वंद्वी के बारे में बात करते हुए साइना ने कहा कि जापानी खिलाड़ी बहुत अच्छी हैं। वे युवा हैं और उन्होंने अच्छा खेला। उन्होंने विशेषकर दूसरे गेम में मुझे परेशान किया लेकिन मुझे  खुशी है कि मैं उससे आगे बढ़ने में सफल रही। वे बहुत प्रतिभाशाली हैं और भविष्य में बड़ी खिलाड़ी  साबित होंगी। 
 
भविष्य के टूर्नामेंट की चर्चा करते हुए साइना ने कहा कि मेरा ध्यान अब हांगकांग ओपन (18-23 नवंबर) में अच्छा प्रदर्शन करने पर है। मैंने 2010 में टूर्नामेंट जीता था और मैं अब अच्छी स्थिति  में हूं। इस जीत से मिला आत्मविश्वास अच्छा प्रदर्शन करने में मेरी मदद करेगा।
 
उन्होंने कहा कि मैं दुबई में होने वाले बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड सुपर सीरीज फाइनल को लेकर उत्साहित हूं। वह अब मेरा परम लक्ष्य है। (भाषा)