सिंधू और श्रीकांत करेंगे 'इंडिया ओपन' में भारतीय चुनौती की अगुआई

पुनः संशोधित सोमवार, 29 जनवरी 2018 (19:17 IST)
नई दिल्ली। गत चैंपियन पीवी सिंधू और पूर्व चैंपियन किदांबी श्रीकांत मंगलवार को यहां क्वालीफायर के साथ शुरू हो रहे 3,50,000 डॉलर इनामी इंडिया ओपन 2018 सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट में क्रमश: पुरुष और महिला एकल में भारत की चुनौती की अगुआई करेंगे।

सिंधु के अलावा महिला एकल में पूर्व चैंपियन और पिछले हफ्ते इंडोनेशिया मास्टर्स सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंची फॉर्म में चल रही साइना नेहवाल से भी भारत को काफी उम्मीदें हैं। पुरुष एकल में एचएस प्रणय और बी. साई प्रणीत भी मेजबान देश की ओर से मजबूत दावेदार होंगे।

कई शीर्ष खिलाड़ियों के हालांकि टूर्नामेंट में नहीं खेलने से इंडिया ओपन 2018 की चमक कुछ फीकी हो गई है। पुरुष एकल में दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी मलेशिया के ली चोंग वेई, चीन के चौथे नंबर के चेन लोंग, कोरिया के 5वें नंबर के सोन वान हो और चीन के 6ठे नंबर के लिन डैन जैसे दिग्गज खिलाड़ी इस सुपर सीरीज प्रतियोगिता के लिए नहीं पहुंचे हैं।

इसके अलावा महिला एकल में दुनिया की नंबर 1 चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग, जापान की दूसरे नंबर की अकाने यामागुची, 6ठे नंबर की कोरिया की सुंग जी ह्युन, विश्व चैंपियन जापान की नोजोमी ओकुहारा और चीन की 8वें नंबर की चेन यूफेई जैसी खिलाड़ी नजर नहीं आएंगी।

दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी और ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू अपने अभियान की शुरुआत दुनिया की 43वें नंबर की खिलाड़ी डेनमार्क की नतालिया कोच रोहदे के खिलाफ करेंगी। विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता सिंधु को आसान ड्रॉ मिला है और उन्हें तीसरी वरीय और दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी रतचानोक इंतानोन के रूप में पहली कड़ी चुनौती का सामना सेमीफाइनल में करना पड़ सकता है।

लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता और 2015 की चैंपियन साइना को पहले दौर में डेनमार्क की दुनिया की 55वें नंबर की खिलाड़ी डेनमार्क की सोफी होल्मबोइ दाहल से भिड़ना है। क्वार्टर फाइनल में साइना को अमेरिका की 10वें नंबर की बेइवान झेंग से खेलना पड़ सकता है जबकि सेमीफाइनल में उनकी भिड़ंत दूसरी वरीय और 2 बार की विश्व चैंपियन स्पेन की कैरोलिन मारिन से हो सकती है।

साइना ने इंडोनेशिया मास्टर्स के क्वार्टर फाइनल में सिंधु को हराया था और यहां फाइनल में ये दोनों भारतीय स्टार आमने सामने हो सकती हैं। इसके अलावा वैदेही चौधरी, रुत्विका शिवान गाडे, रसिका राजे, अनुरा प्रभुदेसाई, ऋतुपर्णा दास, मुग्धा अग्रे, वैष्णवी रेड्डी जाका, रेशमा कार्तिक, श्रीकृष्णा प्रिया कुदारावल्ली, सैली राणे और साई उत्तेजिता राव चुक्का भी भारत की ओर से चुनौती पेश करेंगी।

पुरुष एकल में दुनिया के तीसरे नंबर के खिलाड़ी और 2014 के चैंपियन किदांबी श्रीकांत को पहले दौर में हांगकांग के दुनिया के 43वें नंबर के खिलाड़ी ली च्युक यियू के खिलाफ खेलना है। उन्हें अगले दौरों में समीर वर्मा और अजय जयराम जैसे हमवतन खिलाड़ियों से भिड़ना पड़ सकता है। वे हालांकि अगर सेमीफाइनल में जगह बनाते हैं तो उनका सामना दुनिया के 8वें नंबर के चीन के शी युकी से हो सकता है, जो पहले दौर में भारत के सौरभ वर्मा के खिलाफ उतरेंगे।

दुनिया के नंबर 1 और शीर्ष वरीय विक्टर एक्सेलसन अपने अभियान की शुरुआत क्वालीफायर के खिलाफ करेंगे और फाइनल से पहले श्रीकांत से नहीं भिड़ेंगे। 5वें वरीय प्रणय को भी पहले दौर में क्वालीफायर का सामना करना है जबकि 8वें वरीय साई प्रणीत इंग्लैंड के राजीव ओसेफ के खिलाफ शुरुआत करेंगे।

पारुपल्ली कश्यप पहले दौर में डेनमार्क के हेंस क्रिस्टियन विटिंगस के खिलाफ खेलेंगे लेकिन जीत दर्ज करने पर दूसरे दौर में उनकी भिड़ंत प्रणय से हो सकती है। इन दोनों में से जीत हासिल करने वाले को क्वार्टर फाइनल में एक्सेलसन का सामना करना पड़ सकता है। जयराम को पहले दौर में ही इंडोनेशिया के अनुभवी टामी सुगियार्तो से भिड़ना होगा जबकि दूसरे दौर में उनकी भिड़ंत समीर वर्मा से हो सकती है, जो डेनमार्क के 7वें वरीय एंडर्स एंटोनसेन के खिलाफ शुरुआत करेंगे।

युगल में भारत का प्रतिनिधित्व काफी मजबूत है लेकिन मुख्य चुनौती पुरुष युगल में इंडोनेशिया मास्टर्स के सेमीफाइनल में पहुंचे सात्विक साईंराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी पेश करेंगे जिन्हें पहले दौर में हांगकांग के चोंग टाक चिंग और ही चुन माक का सामना करना है जबकि बी. सुमीत रेड्डी और मनु अत्री की राष्ट्रीय चैंपियन जोड़ी अपने अभियान की शुरुआत ओंग न्यू सिंग और तियो ई ई की
मलेशिया की 6ठी वरीय जोड़ी के खिलाफ करेगी। (भाषा)


और भी पढ़ें :