फीफा ने मैच फिक्सिंग मामले की शुरू की जांच

पुनः संशोधित गुरुवार, 25 अगस्त 2016 (20:46 IST)
ज्युरिख। अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल महासंघ (फीफा) की नैतिक समिति ने 2010 के मामले में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व फुटबॉल प्रमुख कर्स्टन नेमातंदानी और 2 अन्य पर लगे आरोपों की जांच शुरू कर दी है। 
 
स्वतंत्र नैतिक समिति ने कहा कि उन्होंने नेमातंदानी, जिम्बाब्वे फुटबॉल महासंघ के पूर्व अधिकारी जोनाथन मुसावेंगना, टोगो नेशनल टीम के पूर्व कोच बाना चानिले के खिलाफ मामले की जांच शुरू कर दी है। 
 
जांच समिति ने पिछले सप्ताह ही नेमातंदानी पर कम से कम 6 वर्ष का प्रतिबंध और 10,340 डॉलर जुर्माना लगाने का प्रस्ताव रखा था। इसके अलावा उन्होंने मुसावेंगना और चानिले पर भी आजीवन प्रतिबंध का सुझाव दिया था। चानिले पर पहले ही 3 वर्ष का प्रतिबंध लगाया जा चुका है।
 
नैतिक समिति ने कहा कि हमने मामले की जांच शुरू कर दी गई है और बहुत जल्द ही पूछताछ के लिए इन तीनों अधिकारियों को बुलाया जाएगा। 
 
उल्लेखनीय है कि दक्षिण अफ्रीका ने मई 2010 में अपने देश में विश्व कप के आयोजन से पहले थाईलैंड, बुल्गारिया, कोलंबिया और ग्वांटेमाला के खिलाफ अभ्यास मैच खेले थे जिसमें कथित तौर पर मैच फिक्सिंग का मामला सामने आया था। (वार्ता) 



और भी पढ़ें :