दक्षिण एशियाई खेलों में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों के 8 पदक पक्के हुए

Last Updated: बुधवार, 4 दिसंबर 2019 (20:38 IST)
पोखरा। पीवी सिंधु, और जैसे दुनिया के बेस्ट खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी के बावजूद भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में अपना दबदबा बनाए रखा और 4 व्यक्तिगत, 4 युगल वर्ग के सेमीफाइनल में प्रवेश करके पदक पक्के कर लिए।

शीर्ष वरीयता प्राप्त सिरिल वर्मा ने पाकिस्तान के मुराद अली को 27-12, 21-17 से हराकर एकल क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। महिला एकल में 16 बरस की गायत्री गोपीचंद ने दूसरी वरीयता प्राप्त पाकिस्तान की माहूर शाहजाद को 21-15, 21-16 से मात दी।
शीर्ष वरीयता प्राप्त अश्मिता चालिहा ने पाकिस्तान की पलवाशा बशीर को 21-9, 21-7 से परास्त किया। आर्यमन टंडन ने श्रीलंका के रंतुष्का करूणातिलके को 21-17, 21-17 से हराकर पुरुष एकल सेमीफाइनल में जगह बनाई।

महिला युगल में कुहू गर्ग और अनुष्का पारिख और मेघना जक्कमपुडी और एस नीलाकुर्ती ने भी अंतिम 4 में प्रवेश किया। मिश्रित युगल में ध्रुव कपिला और जक्कमपुडी ने श्रीलंका के करूणातिलके और काविंदी सिरिमनागे को 21-14, 26-24 से हराया।

पुरुष युगल में अरुण जार्ज और संयम शुक्ला को पराजय का सामना करना पड़ा लेकिन कृष्णा गरागा और कपिला ने भारत की उम्मीदें कायम रखीं ।



और भी पढ़ें :