महिला हॉकी विश्वकप में क्वार्टरफाइनल और भारत के बीच खड़ी है स्पेन की तगड़ी टीम

पुनः संशोधित शनिवार, 9 जुलाई 2022 (13:57 IST)
हमें फॉलो करें
टेरासा (स्पेन): भारतीय महिला हॉकी टीम के पूल बी में तीसरा स्थान हासिल करने के बाद क्वार्टरफाइनल में जगह बनाने के लिये रविवार को स्पेन का सामना करेगी।

गोलकीपर सविता की कप्तानी में ने राउंड रॉबिन लीग में इंग्लैंड (1-1) और (1-1) के साथ ड्रॉ खेले, हालांकि न्यूज़ीलैंड के खिलाफ उसे 3-4 से हार का सामना करना पड़ा। अब भारत को क्वार्टरफाइनल में पहुंचने के लिये स्पेन के टेरेसा में होने वाले क्रॉसओवर मैच में मेज़बान स्पेन पर जीत दर्ज करनी होगी।

अपने अब तक के विश्व कप अभियान के बारे में सविता ने कहा, "हमें पता था कि पूल मैच बेहद मुश्किल होने वाले हैं। हमने डटकर मुकाबला किया और हार नहीं मानी, लेकिन नतीजे हमारे पक्ष में नहीं आये। हम इन नतीजों को पीछे छोड़ते हुए आगे आने वाले मैच पर ध्यान देंगे। हम अब भी प्रतियोगिता में बने हुए हैं और क्वार्टरफाइनल में पहुंचने के लिये अपना सब कुछ देंगे।"इस बीच, उपकप्तान दीप ग्रेस एक्का ने कहा कि टीम को अपने खेल में और सुधार करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हम अपने पिछले तीन मैचों में और बेहतर खेल सकते थे। हमने पूल स्टेज में कई मौके बनाये, खासकर आखिरी मैच में, लेकिन हम उन्हें गोल में तब्दील नहीं कर सके। हमें अपने कनवर्जन को सुधारने की जरूरत है। आखिर में हर बात अवसर को गोल में तब्दील करने पर आ जाती है।"

स्पेन पूल स्टेज में दो जीत और एक हार के बाद भारत का मुकाबला करेगी। उन्होंने अपने विश्व कप अभियान की शुरुआत कनाडा के खिलाफ 4-1 की जीत से की थी, लेकिन वह अर्जेंटीना के खिलाफ दूसरा मैच 1-4 से हार गये थे। मेजबान टीम ने तीसरे मैच में वापसी करते हुए कोरिया को 4-1 से हराकर पूल सी में दूसरा स्थान हासिल किया।

ऐसा रहा है रिकॉर्ड

इससे पहले जब भारत और स्पेन एफआईएच हॉकी प्रो लीग 2021/22 में सामने आये थे तो मुकाबला बराबरी का रहा था। दोनों टीमों के बीच दो मैच खेले गये थे जिसमें भारत ने पहला मैच 2-1 से जीता था जबकि स्पेन ने दूसरा मैच 4-3 से अपने नाम किया था।

भारतीय कप्तान ने स्पेन के खिलाफ होने वाले मैच के बारे में कहा, "स्पेन एक अच्छी टीम है और वे अपने घर पर खेल रहे हैं इसलिये यह एक चुनौतीपूर्ण मैच होगा। हम उनका सामना प्रो लीग में भी कर चुके हैं, इसलिये हम उनके खेलने के अंदाज से परिचित हैं। कल हमारा ध्यान अपने ऊपर होगा, और इसपर होगा कि हम अपनी योजनाओं को किस तरह लागू करते हैं। हमें उनके खिलाफ अपना 'ए-गेम' खेलना होगा।"एक्का ने कहा कि टीम ज्यादा दबाव लिये बिना मैच खेलने उतरेगी और उनका ध्यान अच्छा हॉकी खेलने की तरफ होगा।

उन्होंने कहा, "हमारे पास क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई करने और वहां से लय को आगे बढ़ाने का शानदार मौका है। हम बहुत अधिक दबाव लिये बिना खेलने उतरेंगे। हमें बस अपनी ताकत से खेलने की जरूरत है और सिर्फ अच्छी हॉकी खेलने पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। इससे हमें वांछित परिणाम प्राप्त करने में मदद मिलेगी।"(वार्ता)



और भी पढ़ें :