अभ्यास मैच से पहले भारतीय फुटबॉलर्स ने मैदान से खुद ही कंकड़-पत्थर हटाये, काठमांडू में नहीं है सुविधाएं

पुनः संशोधित शनिवार, 4 सितम्बर 2021 (19:47 IST)
नई दिल्ली:के खिलाफ रविवार को खेले जाने वाले दूसरे अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच से पहले काठमांडू में बुनियादी सुविधाओं की कमी भारतीय टीम के अभ्यास सत्र में बड़ी बाधा बन गयी है।

(भारतीय फुटबॉल टीम) को दो सितंबर को अपने पहले मैच के बाद से अभ्यास के मैदान नहीं मिल पाया है। तब से टीम के खिलाड़ी होटल में ही रुके हुए हैं।शुक्रवार को दिन में बारिश के बाद अभ्यास मैदान में ज्यादा पानी जमा होने के कारण उन्हें अपना शाम का अभ्यास सत्र रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

टीम प्रबंधन ऐसी परिस्थितियों में खिलाड़ियों के चोटिल होने को लेकर चिंतित है। विश्वसनीय सूत्रों से पता चला है कि अभ्यास के लिए अच्छी पिच (मैदान) नहीं मिलने से मुख्य कोच बेहद परेशान हैं।

इसके अलावा दशरथ स्टेडियम की मुख्य पिच लगभग उतनी ही खराब है। भारतीय दल ने मुख्य स्टेडियम में अभ्यास करने का अनुरोध किया था लेकिन मैच अधिकारियों ने इसे यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि एक घंटे के अभ्यास से मैच के दिन पिच खेलने लायक नहीं रह जाएगी।

दिलचस्प बात यह है कि भारतीय खिलाड़ियों ने दो सितंबर को आधिकारिक अभ्यास से पहले अभ्यास मैदान से खुद ही कंकड़-पत्थर के टुकड़े हटाये थे। उस समय भी उनके अभ्यास के लिए पूरा मैदान उपलब्ध नहीं था।

नेपाल के खिलाफ बेहतर कर सकते हैं भारतीय खिलाड़ी : इगोर स्टिमैक

भारतीय फुटबॉल टीम के मुख्य कोच इगोर स्टिमैक ने कहा है कि रविवार को यहां दशरथ स्टेडियम में होने वाले दूसरे और अंतिम मैत्री मैच में मेजबान नेपाल के खिलाफ भारतीय खिलाड़ी बेहतर फुटबॉल खेल सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि यहां दो सितंबर को नेपाल के खिलाफ पहले मैत्री मैच में पहले हाफ में पिछड़ने के बाद ने अनिरुद्ध थापा के 60वें मिनट में किए गए गोल की बदौलत 1-1 से बराबरी कर ली थी और मुकाबला ड्रॉ रहा था।

कोच ने रविवार को मैच की पूर्व संध्या पर कहा, “ मूड सकारात्मक है और हमारे लड़के जानते हैं कि वे कहीं ज्यादा बेहतर कर सकते हैं। बेशक हम अभी भी ऊर्जा के स्तर से कम हैं, क्योंकि हम तैयारी के दूसरे सप्ताह के अंत में हैं और पैर अभी भी भारी हैं, लेकिन वे बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद कर रहे हैं। हम कुछ चीजों को बदलने जा रहे हैं और देखेंगे कि क्या इससे हमें अधिक आत्मविश्वास लाने और आगे बढ़ने में मदद मिल सकती है या नहीं। ”

स्टिमैक ने कहा, “ पहला मैच कठिन था और नेपाल बहुत व्यवस्थित था। कुछ क्षण ऐसे थे जहां हम एक टीम के रूप में बेहतर कर सकते थे और कुछ क्षण ऐसे भी थे जहां हमने बेहतर किया। हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हमारे पास दूसरे मैच में जाने के लिए एक मजबूत मानसिकता है और दूसरी टीम को कुछ भी नहीं देना है जो कुछ बेहतर की तलाश में है। हमें यह भी सुनिश्चित करने की जरूरत है कि हम एसएएफएफ (दक्षिण एशियाई फुटबॉल महासंघ) चैंपियनशिप की तैयारी के लिए अच्छे क्रम में इसका उपयोग करें। ”

पहले मैच में गोल स्कोरर रहे अनिरुद्ध थापा घुटने पर चोट लगने के बाद अगले दिन परेशानी से जूझते दिखे थे। अनिरुद्ध ने हालांकि अब बिल्कुल ठीक होने का आश्वासन दिया है।अनिरुद्ध ने एक बयान में कहा, “ मैं कम दूरी में तेज दौड़ने पर काम कर रहा हूं। इसने मुझे अपने मार्कर से आगे गेंद तक पहुंच की अनुमति दी है और यहां तक कि गोलकीपर किरण भाई (किरण लिंबु) को भी मदद मिली है। हम पहले मैच के दूसरे हाफ में कहीं बेहतर थे और चाहते थे कि मैच कुछ और समय तक जारी रहे, ताकि हम जीत सकें। जैसे कि कल रविवार से दूसरे मैत्री मैच शुरू हो रहा है, जिसमें हम एक निरंतरता के लिए तत्पर हैं, जिस तरह से हम दूसरे हाफ में खेले थे, वैसे ही इस मैच में खेलने की उम्मीद कर रहे हैं।”

उल्लेखनीय है दूसरा मैत्री मैच कल रविवार को भारतीय समयानुसार शाम पांच बजकर 15 मिनट पर शुरू होगा, जिसका भारतीय फुटबॉल टीम के आधिकारिक फेसबुक पेज @दइंडियनफुटबॉलटीम पर सीधा प्रसारण किया जाएगा।

भारत और नेपाल के बीच मैत्री मैच 1-1 से ड्रा

भारत और नेपाल के बीच गुरूवार को अंतरराष्ट्रीय मैत्री फुटबॉल मैच 1-1 से ड्रा पर छूटा।मेजबान टीम के बढ़त लेने के बाद भारतीय टीम के लिये अनिरूद्ध थापा ने बराबरी गोल दागा।

दशरथ स्टेडियम में नेपाल 36वें मिनट में अंजन बिस्ता की बदौलत 1-0 से आगे हो गया जिसके बाद थापा ने भारत के लिये बराबरी गोल किया।मैच से भारत की मालदीव में अगले महीने होने वाली सैफ चैम्पियनशिप के लिये तैयारियां भी शुरू हो गयीं।

पांच टीम की सैफ चैम्पियनशिप तीन से 13 अक्टूबर तक माले के नेशनल स्टेडियम में खेली जायेगी।भारत के अलावा इसमें भाग लेने वाली अन्य टीमें बांग्लादेश, श्रीलंका, मेजबान मालदीव और नेपाल हैं।



और भी पढ़ें :