सिंहस्थ तक महाकाल दर्शनों की वीआईपी श्रेणी बदली

उज्जैन|
उज्जैन। उज्जैन जिले के प्रभारी मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने गत दिवस उज्जैन में की तैयारियों में जुटे आला अधिकारियों की बैठक में सिंहस्थ के दौरान महाकाल दर्शनों के लिए ऐतिहासिक फैसला लिया।
 
सिंह ने जिला प्रशासन को स्पष्ट रूप से कहा कि महाकाल दर्शनों के लिए उन्हीं व्यक्तियों को वीआईपी दर्शन करवाएं, जिन्हें संवैधानिक दर्जा प्राप्त है। इसके अलावा किसी को भी वीआईपी मानकर दर्शन नहीं करवाए जाएं। दर्शन व्यवस्था में आम नागरिकों के दर्शनों की भी समुचित व्यवस्था की जाए। महाकाल मन्दिर परिसर की सुरक्षा में अब स्थानीय पुलिस बल को नहीं रखा जाएगा। सिंहस्थ तक केवल उज्जैन से बाहर की पुलिस को ही महाकाल मन्दिर परिसर की सुरक्षा सौंपी जाएगी। 
 
बैठक में प्रभारी मंत्री ने केन्द्रीय समिति के सदस्यों को आश्वस्त किया कि महाकाल मन्दिर परिसर में शिवरात्रि के दौरान बनाई गई नई व्यवस्था में बदलाव करना होगा। प्रशासन ऐसा प्रयास करें कि श्रद्धालुओं को उसी स्थान पर जूता-चप्पल एवं अन्य सामग्री प्राप्त हो, जहां उन्होंने छोड़ी थी। (वार्ता) 
 



और भी पढ़ें :