श्राद्ध पक्ष : पढ़ें हाइकू रचनाएं...


1. हे पितृपक्ष
भोगवादी समाज
पितर कौन।  
 
2. का पाख
याद करो पूर्वज
श्रद्धा है मूल।
 
3. ब्राह्मण भोज
स्वादमय भोजन
पंडित तुष्ट।
 
4. संतुष्ट पितृ
श्राद्ध श्रद्धापूर्वक
मिले सौभाग्य।
 
5. मरों का दान
पहुंचा उन तक
श्रद्धा पहुंची।
 
6. श्राद्ध किसका
अंदर रक्त जिसका
ऋण उसका।
 
7. दें जलांजलि
कृतज्ञ भावनाएं
पाएं आशीष।
 
8. जरूरी नहीं
सबको भोजन दें
पौधा रोप दें।
 
9. बगैर स्वार्थ
नहीं दक्षिणा दान
गिरते हम।
 
10. तर्पण मूल
चरित्रों से प्रेरणा
आत्म-कृतज्ञ।
 
11. श्राद्ध उचित
श्रद्धाभाव से दान
शास्त्रसम्मत।



और भी पढ़ें :