हिन्दू धर्म के 10 रहस्यमयी ज्ञान, जानिए....

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
4. : 6 भारतीय दर्शन की उत्पत्ति भी वेदों से है। ये 6 दर्शन हैं- 1. न्याय, 2. वैशेषिक, 3. मीमांसा, 4. सांख्य 5. वेदांत और 6. योग। सांख्य एक द्वैतवादी दर्शन है। महर्षि वादरायण, जो संभवतः वेदव्यास ही हैं, का 'ब्रह्मसूत्र' और उपनिषद वेदांत दर्शन के मूल स्रोत हैं। पढ़ें भारतीय संतों के बारे में विस्तार से....>
> महर्षि पतंजलि का 'योगसूत्र' दर्शन का प्रथम व्यवस्थित और वैज्ञानिक अध्ययन है। वैशेषिक दर्शन के प्रणेता महर्षि कणाद ने इस दार्शनिक मत द्वारा ऐसे धर्म की प्रतिष्ठा का ध्येय रखा है, जो भौतिक जीवन को बेहतर बनाए और लोकोत्तर जीवन में मोक्ष का साधन हो। न्याय दर्शन नाम से तर्क प्रधान इस प्रत्यक्ष विज्ञान की शुरुआत करने वाले अक्षपाद गौतम हैं। 

 

और भी पढ़ें :