चाणक्य नीति : पत्नी को कभी न बताएं ये 4 बातें वरना पछताएंगे

chanakya niti kahani
Last Updated: शुक्रवार, 24 जून 2022 (15:17 IST)
हमें फॉलो करें
: ने अपने नीति शास्त्र में कई बातों पर अपना मत रखा है। उनकी कई बातें आज भी प्रासंगिक है। हालांकि कुछ बातों को लोग अब नहीं मानते हैं, लेकिन नीति क्या कहती है यह जानना जरूरी है। आचार्य चाणक्य ने, सेहत, धन, राजनीति, शासन, प्रशासन और रिश्तों को लेकर कई अच्‍छी बातों को बताया है। आओ जानते हैं कि ऐसी कौनसी 4 बातें हैं जो पत्नी को नहीं बताना चाहिए।


दिए गए दान को न बताएं : किसी भी प्रकार के दान को अपनी पत्नी से भी गुप्त ही रखना चाहिए। हालांकि दान को गुप्त रूप से ही किया जाना चाहिए। कई बार आपकी पत्नी दान पर किए गए खर्च की दुहाई देकर आपको भला-बुरा कह सकती है।

अपमान को छुपाकर रखें : चाणक्य कहते हैं कि पति को कभी भी अपने हुए अपमान के बारे में नहीं बताना चाहिए। क्योंकि बाद में जब पति पत्नी के बीच छोटी बात पर भी विवाद होता है तो पत्नी इस अपमान का ताना देन से चूकती नहीं हैं।
खुद की कमजोरी को न बताएं : आचार्य चाणक्य कहते हैं कि यदि पति के अंदर कोई कमजोरी है या उसकी कोई कमजोरी है तो उसे अपनी पत्नी को नहीं बताना चाहिए। यदि आपकी पत्नी को आपकी कमजोरी पता चल गई तो वो अपनी बात मनवाने के लिए आपकी कमजोरी पर ही प्रहार करेगी।

कमाई को न करें उजागर : चाणक्य नीति के अनुसार पत्नी को अपनी कमाई नहीं बताना चाहिए। यदि अगर उसे आपकी कमाई का पता चल जाता है तो वो उस पर भी अधिकार जताते हुए आपके तमाम खर्चे को रोकने का प्रयास करेगी।



और भी पढ़ें :