बाहुबली अतीक पर योगी का बुलडोजर, अब तक 200 करोड़ की अवैध सम्पत्ति कुर्क

Author हिमा अग्रवाल| Last Updated: गुरुवार, 17 सितम्बर 2020 (22:45 IST)
में बंद के पर गुरुवार को प्रशासन का बुलडोजर चल गया। इस बाहुबली पर अकूत अवैध सम्पत्ति है, लगभग 200 करोड़ की अवैध सम्पत्ति अब तक पुलिस कुर्क कर चुकी है। अतीत ने की दुनिया में कदम रखने के बाद पीछे मुड़कर नही देखा और बेपनाह दौलत का मालिक बन गया।
अतीक के इतिहास को जानने के लिए कुछ समय पीछे चलते है। को पहले के नाम से पुकारा जाता था, इलाहाबाद में उन दिनों नए कॉलेज बन रहे थे, नई-नई औद्योगिक इकाइयां जन्म ले रहीं थीं और खूब ठेके बंट रहे थे। ऐसे में नई उम्र के लड़कों में अमीर बनने की ललक दिखाई पड़ती थी। पर अतीक दौलत और रुतबे के लिए कुछ भी करने को तैयार था। मतलब अपराध जैसे हत्या और अपहरण फिरौती और लूट।
इलाहाबाद में एक मोहल्ला है चकिया। इसमें रहने वाला अतीक 1979 में हाई स्कूल में फेल हो गया। उसके पिता फिरोज इलाहाबाद स्टेशन पर तांगा चलाते थे, लेकिन अतीक के सिर पर अमीर बनने का ऐसा भूत सवार हुआ कि उस पर 17 साल की उम्र में हत्या का आरोप लगा। फिर क्या था? एक बार अपराध में संलिप्त होने के बाद उसका धंधा फलने-फूलने लगा। उसका रंगदारी वसूलना मुख्य व्यापार बन गया और तांगे चलाने वाले का बेटा इलाके में अपराध की दुनिया का बादशाह बन गया।
जब लोग अतीक के नाम से थरथराने लगे और उसके गिरोह का आकार बढ़ा, तब वह चुनावी दंगल के लिए काम का आदमी बन गया। लाठीतंत्र में तब्दील होते लोकतंत्र में उसकी भूमिका अहम हो गई। फिर क्या था? दूसरों को कुर्सी पर आसीन कराने वाले अतीक को लगा कि जब वह दूसरों को जितवा सकता है, तब खुद भी जीत सकता है। आखिरकार अतीक अहमद वर्ष 1989 में पहली बार इलाहाबाद (पश्चिमी) विधानसभा सीट से विधायक बना।
अतीक अहमद ने 1991 और 1993 का चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ा और विधायक भी चुना गया। 1996 में इसी सीट पर अतीक को समाजवादी पार्टी ने टिकट दे दिया। इस बार वह सपा विधायक बन गया। पर अब इस पूर्व विधायक के बुरे दिन आ गए, उस पर गैंगस्टर एक्ट और भूमाफिया के तहत कार्रवाई की जा रही है और वह जेल की सलाखों के पीछे हवा खा रहा है।
गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सासंद अतीक के भू-माफिया घोषित किए जाने के बाद सरकार उन पर लगातार शिकंजा कस रही है। अतीक और उसके साथियों की आर्थिक कमर तोड़ने के लिए पुलिस और प्रशासन लगातार सख्त रूख अपना रहा है, जिसके चलते अतीक अहमद गैंग के मेंबर और करीबी अब्बास खान का सिविल लाइन्स क्षेत्र स्थित शॉपिंग कॉम्प्लेक्स मैक टावर सील कर दिया गया।

इसी के साथ प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने झूंसी के अटना में बाहुबली के ड्रीम प्रोजेक्ट किसान कोल्ड स्टोरेज पर भी बुलडोजर चलाकर उसे जमीदोंज कर दिया। अतीक अहमद का यह किसान कोल्ड स्टोरेज उसकी पत्नी शाइस्ता परवीन के नाम है।
प्रशासन ने आज 6 जेसीबी मशीन लगाकर कोल्ड स्टोरेज को गिरा दिया है। इस प्रापर्टी को डीएम भानुचन्द्र गोस्वामी ने 7सितम्बर को कुर्क करने का आदेश जारी किया था, लेकिन उसमें आलू का भंडारण होने के चलते गिराने में दिक्कत आ रही थी।

डीएम ने किसान कोल्ड स्टोरेज से 25 सितंबर तक आलू निकालने का किसानों को समय दिया था। आलू का भंडारण खाली होते ही आज बाहुबली अतीक के अवैध कोल्ड स्टोरेज पर बुलडोजर गरज गया।



और भी पढ़ें :