उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रावत ने की कुंभ व्यवस्थाओं की समीक्षा, अधिकारियों को दिए निर्देश

निष्ठा पांडे| पुनः संशोधित शनिवार, 9 जनवरी 2021 (00:06 IST)
देहरादून। के मुख्यमंत्री ने कुंभ के आयोजन में लगे अधिकारियों से प्रमुख अखाड़ों के प्रमुखों से समन्वय कर उनसे सुझावानुसार व्यवस्थाएं करने को कहा। ने गुरुवार को मुख्यमंत्री आवास में मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक एवं शासन के उच्चाधिकारियों के साथ ही मेलाधिकारी एवं आईजी कुंभ मेला के साथ कुंभ के कार्यों की व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए कहा है कि कुंभ मेले में आने वालों के लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था, इन्ट्री प्वाइंट पर थरमल स्क्रीनिंग के साथ ही एन्टीजन टेस्टिंग की व्यवस्था पर ध्यान दिया जाए।
उन्होंने कुंभ मेले के सफल आयोजन एवं श्रद्धालुओं की सुविधा का ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए। सड़क, पुलों, पार्किंग स्थलों आदि के यथासमय निर्माण पर ध्यान देने को कहा। उन्होंने इस कुंभ की व्यवस्थाओं को 2010 कुंभ के अनुरूप किए जाने की बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस महत्वपूर्ण आयोजन में आने वाले श्रद्धालुओं को सुरक्षित ढंग से कुंभ स्नान कर सकें ऐसी व्यवस्था बनाई जाए। इसके लिए सभी सम्बन्धित विभाग आपसी समन्वय से कार्य करें। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में परिस्थिति के अनुकूल यथासमय एडवाइजरी जारी करने की व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुंभ मेले के अवसर पर क्राउड मैनेजमेंट की कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए, इसके लिए अन्य राज्यों से भी विचार विमर्श करें। उन्होंने पुलिस महानिदेशक से भीड़ नियन्त्रण आदि के लिए कन्टिजेंट प्लान तैयार करने पर ध्यान देने को कहा।

बैठक में मुख्य सचिव ओम प्रकाश, पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, सचिव अमित नेगी, नीतेश झा, शैलेश बगोली, राधिका झा, सचिव एसए मुरूगेशन, मेलाधिकारी दीपक रावत, कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कुंभ यात्रियों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा अनिवार्य : उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने कहा है कि
कुंभ मेले के दौरान हरिद्वार आने वाले यात्रियों को अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। हरिद्वार प्रेस क्लब में पत्रकार संवाद कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस ने कुंभ मेले को लेकर तैयारियां पूरी कर ली हैं।

उन्होंने कुंभ मेले को लेकर जनता और जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद कार्यक्रम भी आयोजित किया। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि जो भी यात्री शिरकत करने के लिए हरिद्वार पहुंचेंगे उन सभी को अपना राजिस्ट्रेशन करने के लिए एक ऑनलाइन पोर्टल की व्यवस्था की जा रही है। इस पर हरिद्वार कुंभ मेले में आने वाले यात्री अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। एक हफ्ते के भीतर ऑनलाइन पोर्टल यात्रियों के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा।

महाकुंभ के स्वरुप के बारे में उन्होंने कहा कि कुंभ मेले के दौरान कोरोना की क्या स्थिति रहती है यह अभी साफ नहीं हो पाया है, उसके हिसाब से ही फैसला लिया जाएगा। पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने महाकुंभ में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर लोगों और जनप्रतिनिधियों से सुझाव भी लिए।कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को एक संदेश देते उन्होंने कहा कि कुंभ स्नान के समय श्रद्धालुओ को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि स्नान वाले दिन सभी घाट स्नान के लिए खुले रहेंगे। सभी घाटों पर पुलिस के जवान तैनात किए जाएंगे। कुंभ क्षेत्र में पड़ने वाले ऋषिकेश और इसके आसपास के क्षेत्र को तेजी से विकसित और क्षेत्रफल बढ़ने को लेकर डीजीपी अशोक कुमार ने मुनी की रेती और कृषि के क्षेत्र में नए पुलिस चौकी और थानों के खोलने के लिए कहा। कुंभ मेले से पहले फरवरी महीने के अंत तक इस पूरे क्षेत्र में सुरक्षा के दृष्टिगत 100 सीसीटीवी कैमरे लगाने की बात भी उन्होंने कही।



और भी पढ़ें :