गुरमीत राम रहीम मामले में हरियाणा सरकार की दूर हुई बड़ी चिंता

Last Updated: बुधवार, 9 जनवरी 2019 (14:38 IST)
पत्रकार की हत्या मामले में स्वघोषित गुरु राम रहीम पर पंचकूला कोर्ट द्वारा फैसला सुनाए जाने को लेकर हरियाणा सरकार चिंतित थी कि फैसला सुनाए जाने के दौरान कानून-व्यवस्था की स्थिति न बिगड़ जाए। पुलिस प्रशासन को यह डर था कि डेरा सच्चा सौदा के मुखिया को यदि पंचकूला की स्पेशल में लाया गया तो उसके समर्थक माहौल को बिगाड़ सकते हैं, लेकिन अब उसकी यह चिंता दूर हो गई है।

बताया जा रहा है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए अब 11 जनवरी को पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट द्वारा राम रहीम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनाया जाएगा।

सरकार ने कोर्ट में इसकी अपील की थी और उसे मान लिया गया है। राम रहीम को पंचकूला नहीं लाया जाएगा। दो साध्वियों से दुष्‍कर्म के मामले में 20 साल कैद की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम पर पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में 11 जनवरी को फैसला सुनाए जाने की संभावना है।
साध्वी यौन शोषण मामले में राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला व हरियाणा के अन्य इलाकों में राम रहीम के अनुयाई पंचकूला में जमा होने लगे थे। इससे हरियाणा सरकार कानून व्यवस्था को लेकर चिंतित थी, लेकिन अब उसकी यह चिंता दूर हो गई है।

 

और भी पढ़ें :