उत्तराखंड में 3 दिनों के लिए भारी बारिश का अलर्ट, SDRF की 29 टीमों ने संभाला मोर्चा

एन. पांडेय| पुनः संशोधित रविवार, 17 अक्टूबर 2021 (14:06 IST)
देहरादून। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र ने अगले 3 दिनों के लिए राज्य में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ ही कहीं-कहीं अत्यंत भारी वर्षा होने की संभावना जताते हुए अलर्ट जारी किया है।जिसके तहत 17 और 19 अक्टूबर को ऑरेंज अलर्ट, तो वहीं 18 अक्टूबर के लिए रेड अलर्ट जारी हुआ है। जारी अलर्ट के अनुसार लगभग प्रदेश के सभी जिलों में भारी होने की संभावना है।
आज से अगले तीन दिनों तक राज्य में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ ही कहीं-कहीं अत्यंत भारी वर्षा होने की संभावना जताई गई है। जिसके तहत कुछ स्थानों पर आकाशीय बिजली, ओलावृष्टि, तेज हवाएं- 80 किलोमीटर प्रति घंटा तक चलने की संभावना है।

इस चेतावनी को देखते हुए कमांडेंट नवनीत सिंह के आदेशानुसार राज्य के विभिन्न जनपदों में व्यवस्थापित SDRF की सभी टीमें अलर्ट अवस्था में रखी गई हैं। सभी टीमों को निर्देशित किया गया है कि वे किसी भी आपात परिस्थिति के लिए पूर्णतः अलर्ट रहें व रेस्क्यू उपकरणों को भी कार्यशील दशा में रखें।

द्वारा जारी किए गए अलर्ट के बाद तत्काल ही कमांडेंट SDRF, नवनीत सिंह के आदेशानुसार राज्यभर में SDRF रेस्क्यू टीमों को किसी भी आपात स्थिति में तत्काल कार्रवाई के लिए अलर्ट कर दिया गया है। SDRF कंट्रोल रूम को भी अलर्ट पर रखा गया है। सभी को निर्देशित किया गया है कि सूचनाओं का आदान-प्रदान तत्काल किया जाए, जिससे किसी भी घटनास्थल पर समय पर पहुंचकर रेस्क्यू कार्य सुचारू रूप से किया जाए।

मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुए SDRF की 29 टीमें राज्य के विभिन्न संवेदनशील स्थानों पर लगाई गई हैं।जिनमें देहरादून जिले के सहस्त्रधारा, चकराता में।टिहरी जिले के ढालवाला (ऋषिकेश), कोटि कॉलोनी, ब्यासी (कौड़ियाला) में। उत्तरकाशी जिले के उजेली, भटवाड़ी, गंगोत्री, बड़कोट,जानकीचट्टी/ यमुनोत्री में। पौड़ी गढ़वाल जिले के श्रीनगर, कोटद्वार, सतपुली में।

चमोली जिले के गौचर, जोशीमठ, पांडुकेश्वर, बद्रीनाथ में।रुद्रप्रयाग जिले के सोनप्रयाग, अगस्तमुनि, लिनचोली, केदारनाथ में। पिथौरागढ़ जिले के पिथौरागढ़, धारचूला, अस्कोट में।बागेश्वरजिले के कपकोट में।नैनीताल जिले के नैनीताल, खैरना में।अल्मोड़ा जिले के सरियापानी और ऊधमसिंहनगर जिले के रुद्रपुर में टीमें अलर्ट पर रखी गई हैं।



और भी पढ़ें :