मप्र सरकार किसानों की मौत का मुआवजा देगी 10 लाख रुपए

Last Updated: मंगलवार, 6 जून 2017 (20:54 IST)
भोपाल। के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंगलवार शाम को कहा कि में गोली लगने से जिन हुई है, उसका सरकार 10 लाख मुआवजा देगी। में मारे गए किसानों को पहले प्रदेश सरकार ने पांच-पांच लाख रुपए देने का फैसला लिया था लेकिन अब मुआवजा राशि दोगुनी कर दी गई।

ने यह भी फैसला किया है कि मंदसौर में फायरिंग में हुई पांच किसानों की मौतों की न्यायिक जांच करवाई जाएगी। मुख्यमंत्री चौहान ने फायरिंग के पीछे कांग्रेस की साजिश बताते हुए आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस किसान आंदोलन को सियासी रंग दे रही है।

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश में किसानों प्रदर्शन उग्र होने के साथ ही साथ हिंसक भी होता जा रहा है। किसान आंदोलन को रोकने में शिवराज सरकार बुरी तरह फेल हुई है। मंदसौर में मंगलवार को प्रदर्शनकारी गुट द्वारा बसों में तोड़फोड़ व आग लगाए जाने के बाद मौके पर पहुंची सीआरपीएफ की टीम ने मोर्चा संभाला। इस दौरान वहां गोलीबारी भी हुई। तीन किसानों ने तो मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि दो लोगों की मौत अस्पताल ले जाते हुई।

किसानों के आंदोलन को उग्र होते देख उज्जैन संभाग के आसपास के जिलों में इंटरनेट की सुविधा बंद कर दी गई है।
सूत्रों
के अनुसार मंदसौर नीमच रोड पर बही के पास गुस्साए किसानों ने 10 से ज्यादा ट्रकों में आग लगा दी। उन्होंने पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों पर पथराव भी किया। हालात बेकाबू होने पर सीआरपीएफ के जवानों ने फायरिंग शुरू कर दी।
प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि सीआरपीएफ द्वारा की गई फायरिंग से किसानों की मौत हो गई। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।



और भी पढ़ें :