पुणे में भारी बारिश के बाद तेज जलप्रवाह में 4 लोग बहे, IMD ने जताई भारी वर्षा की आशंका

Last Updated: गुरुवार, 15 अक्टूबर 2020 (16:59 IST)
पुणे। महाराष्ट्र के के बाद में 4 लोग बह गए। पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने बताया कि बहरहाल राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की एक टीम को पड़ोसी सोलापुर जिले के मोहोल तहसील के एक गांव में भेजा गया, जहां बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। पुणे और उसके पड़ोसी सोलापुर और कोल्हापुर जिलों में बुधवार को भारी वर्षा हुई जिससे कुछ निचले इलाकों में बाढ़ आ गई।
ALSO READ:
तेलंगाना और आंध्र में बारिश से तबाही, 25 की मौत, PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों को दिया हर मदद का भरोसा
दौंड पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया कि पुणे के खनोटा गांव में 2 मोटरसाइकलों पर सवार 4 लोगों ने बुधवार शाम को जलधारा को पार करने की कोशिश की, लेकिन पानी के तेज प्रवाह में बह गए और बाद में हमने गुरुवार सुबह 3 शव बरामद किए और चौथे व्यक्ति की तलाश जारी है। पुणे में भारी बारिश के बाद कई निचले इलाकों में बुधवार रात जलजमाव हो गया।
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार शहर में बुधवार को 96 मिमी बारिश हुई। आईएमडी ने अगले कुछ दिनों में पुणे और आसपास के इलाकों में गरज के साथ भारी वर्षा की आशंका जताई है। दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें पुणे शहर के विभिन्न हिस्सों से जलजमाव और पेड़ गिरने को लेकर 35 से 40 फोन कॉल आए हैं तथा निचले इलाकों में कई जगहों पर जलजमाव हो गया।

राष्ट्रीय आपदामोचन बल के एक अधिकारी ने कहा कि सोलापुर में एनडीआरएफ की एक टीम को मोहोल तहसील के एक गांव में फंसे लोगों को निकालने के लिए भेजा गया है, जहां बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। लगातार बारिश के कारण सड़क के कुछ हिस्सों पर भारी जलजमाव के कारण बुधवार शाम को पुणे-सोलापुर राजमार्ग पर यातायात 1 घंटे से अधिक समय तक बाधित रहा। बाद में पानी के कम होने के बाद वाहनों की आवाजाही फिर से शुरू हुई।
सोलापुर के एक अधिकारी ने कहा कि जिले में बुधवार को 79 मिलीमीटर बारिश हुई। सोलापुर के पंढरपुर शहर में चंद्रभागा नदी के तट पर एक दीवार गिरने से बुधवार को 6 लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा जिला आपदा प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने बताया कि कोल्हापुर में पिछले 24 घंटों में 56 मिमी बारिश हुई। (भाषा)(फ़ाइल चित्र)



और भी पढ़ें :