बिजली संकट के बीच कोयला मंत्री का कोरबा दौरा, संकट समाधान पर होगा विचार

Last Updated: बुधवार, 13 अक्टूबर 2021 (09:03 IST)
कोरबा। देश में गहराते बिजली संकट के बीच केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी का आज बुधवार को कोरबा का दौरा होगा और वे देश और एशिया की सबसे बड़े खुली कोयला खदान गेवरा का दौरा करेंगे। इस विषय में एसईसीएल बिलासपुर मुख्यालय के जनसंपर्क अधिकारी सनीष चंद्रा ने बताया कि केंद्रीय कोयला मंत्री आज गेवरा पहुंचेंगे। यहां वह अधिकारियों की बैठक लेंगे, हालांकि यह प्रवास बेहद अल्प समय के लिए है जिसके बाद वह रायपुर और फिर झारखंड के लिए रवाना होंगे। वे कोयला सप्लाई व बिजली संकट के समाधान पर विचार करेंगे।
ALSO READ:

निजी कंपनियों के फायदे के लिए खड़ा किया गया कोयला संकट?
जानकारी के अनुसार वे अधिकारियों की बैठक लेने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी मुलाकात कर सीधे झारखंड जाएंगे। इस तरह से केंद्रीय स्तर के अधिकारियों की दौरे के बाद अब केंद्रीय मंत्री का दौरा सुनिश्चित हुआ है। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कोयले की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि के कारण कोयले का आयात बंद है। इस कारण एसईसीएल पर पावर सेक्टर को कोयला आपूर्ति का दबाव है। ऐसी परिस्थितियों में छत्तीसगढ़ को कम कोयले की आपूर्ति की जा रही थी, जिससे प्रदेश के ताप विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी बरकरार है।
तेज बारिश और अन्य कारणों से एसईसीएल को कोयला खदानों से पूरी क्षमता से उत्पादन नहीं हो रहा है। निर्धारित लक्ष्य की तुलना में 50 से 60 फीसदी तक ही कोयले का उत्पादन हो रहा है। जो कि केंद्र सरकार के लिए बड़ी चिंता का विषय है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कोयला संकट के हालात पैदा होने पर चिंता जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था।



और भी पढ़ें :