कांग्रेस का घोषणा पत्र हवा हवाई, भाजपा जो कहती, वह करती है : खट्टर

Last Updated: मंगलवार, 15 अक्टूबर 2019 (20:53 IST)
जींद। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी वहीं बात कहेगी जो वह करके दिखा सकती है और ऐसी कोई भी बात नहीं कहेगी जो वह न कर सके लेकिन का घोषणा पत्र एकदम हवा हवाई है तथा इसमें सब कुछ मुफ्त देने की बात कही गई है।
खट्टर ने जुलाना में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए कहा कि यह पार्टी पहले भी ऐसी ही घोषणाएं करती थी, चाहे वह केंद्र और प्रदेश में सत्ता में रही हो लेकिन सबकी सब कोरी साबित हुईं।

उन्होंने कांग्रेस समेत विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि कोई हिरासत में बैठकर पार्टी चला रहा है तो कोई खानदानी पार्टी चला रहा है। लेकिन प्रदेश की जनता इन लोगों को जानती है। अब प्रदेश में दबंगई नहीं बल्कि शराफत चलेगी। भाजपा प्रदेश में शराफत से पार्टी और सरकार चला रही है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में ऐसी घोषणाएं हैं कि अगर वे 3 बार भी राज्य में सरकार बना ले तो भी पूरी नहीं हो सकतीं। कांग्रेस के घोषणा पत्र में एक लाख 25 हजार करोड़ की योजनाएं हैं जो कभी पूरी नहीं हो सकतीं।

उन्होंने कांग्रेस पर मुफ्तखोरी को बढ़ावा देने का आरोप लगाया और कहा कि भाजपा वे घोषणाएं कर रही हैं जो आमजन के लिए हैं। कांग्रेस लोगों को मुफ्तखोर बनाने के लिए आगे बढ़ रही है जबकि भाजपा युवाओं को कौशल विकास की तरफ ले जा रही है।

खट्टर ने कहा कि भाजपा ने युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए 100 घंटे काम की योजना बनाई और इसके बाद ही उन्हें 7 और 9 हजार रुपए तक मिलते हैं। कांग्रेस ने घोषणा कर दी कि युवाओं को बिना काम के ही 7 और 10 हजार रुपए देंगे। इस दौरान उपस्थित लोगों ने एक स्वर में उनका समर्थन किया।

उन्होंने कहा कि
हरियाणा कर्मयोगी है और काम करने वाले की ही पूजा होती है। गीता का संदेश भी हरियाणा की धरती पर दिया गया है। भाजपा हरियाणा में सबको काम देगी, इतना काम दिया जाएगा कि उसका परिवार संपन्न होगा लेकिन भाजपा मुफ्तखोरी की पक्षधर नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने किसानों की आमदनी बढ़ाने का भी काम किया है। प्राकृतिक आपदा आने पर किसानों को पूर्ण मुआवजा दिया गया।

उन्होंने कहा कि 5 साल में किसानों को 3600 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया गया है, जबकि 48 साल में पिछली सरकारों ने केवल 1200 करोड़ रुपए ही मुआवजा दिया है। भाजपा ही किसानों की सच्ची हितैषी है। उन्होंने कहा कि राज्य में पंचायत चुनावों में पढ़ी-लिखी सरकार भाजपा ने बनाने का काम किया। इसका उद्देश्य यही था कि हर काम पारदर्शिता और पूरी ईमानदारी से हो, लेकिन विपक्ष ने यह घोषणा कर दी कि अगर सरकार आएगी तो पढ़े-लिखे की शर्त हटा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पंचायत पढ़ी-लिखी हो तो अच्छा है।

मुख्यमंत्री ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की हार इसलिए हुई कि कांग्रेस का अध्यक्ष गांधी परिवार से है। उन्होंने इस्तीफा दे दिया लेकिन 3 माह बीतने के बाद फिर से सोनिया गांधी को कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हर कार्य ईमानदारी से किया है। चाहे वह फसल खरीदने का हो, नौकरियां हों, सब काम पूरी पारदर्शिता से किया गया है। पहले जहां नौकरियों और बदलियों की बोली लगती थी। अब मेरिट आधार पर ही नौकरियां दी जा रही हैं।


और भी पढ़ें :