Kanpur Violence : जब पहले नहीं किया पलायन तो अब पलायन का सवाल ही नहीं है...

अवनीश कुमार| पुनः संशोधित बुधवार, 8 जून 2022 (22:48 IST)
हमें फॉलो करें
कानपुर। हिंसा के बाद से चन्द्रेश्वर हाता चर्चा का विषय बना हुआ है। इसी बीच खबरें आईं कि हाता के लोग कर रहे हैं। इस पर स्थानीय लोगों से बातचीत की गई तो उन्होंने साफ इनकार कर दिया।वहीं पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा प्रकाश शर्मा ने भी पलायन की बात को सिरे से खारिज कर दिया।
बेकनगंज में जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल में चन्द्रेश्वर हाता निशाने पर रहा। यहां के लोगों ने भीड़ का सामना किया और दोनों ओर से पत्थरबाजी हुई। इसके बाद से इस हाते की सुरक्षा बढ़ा दी गई क्योंकि हाते के आसपास विशेष समुदाय के लोगों की ऊंची्-ऊंची इमारते बनी हुई हैं।

इससे हाते के लोगों में कहीं न कहीं सुरक्षा को लेकर डर है और बुधवार को अचानक खबरें आने लगीं कि हाते के लोग पलायन कर रहे हैं। ऐसी खबरों को लेकर जब स्थानीय लोगों से बातचीत की गई तो बताया गया ऐसा कुछ नहीं है, भ्रामक खबरें चलाई जा रही हैं। यह जरुर है कि डर का माहौल तो है, लेकिन पलायन का सवाल ही नहीं है।

हाते में रहने वाले एक युवक ने बताया कि कुछ महिलाओं से कुछ लोगों ने बातचीत की थी और उनकी बातों को तोड़-मरोड़कर पेश कर दिया गया है।बताया कि बवाल से पहले दो-तीन परिवार गर्मी की छुट्टी मनाने निकला हुआ है और जल्द ही वापस आ जाएगा।

उन्होंने सवाल किया कोई क्यों पलायन करेगा, तीन सौ मीटर में जिला स्तरीय प्रशासनिक कार्यालय हैं। हाते के पास 24 घंटे पुलिस तैनात रहती है। ऐसा नहीं है कि आसपास के सभी लोग गड़बड़ हैं। सुरक्षा का किसी तरह से अभाव नहीं है।

पलायन का सवाल ही नहीं : पलायन की खबरों को लेकर भाजपा नेता प्रकाश शर्मा चन्द्रेश्वर हाता पहुंचे और लोगों से बातचीत की। शर्मा ने बताया कि यहां के लोग उस समय पलायन नहीं किए जब जिहादियों की समर्थक सरकारें थीं।अब तो भाजपा सरकार है और सरकार से पूरी सुरक्षा मिल रही है।

उन्होंने कहा कि जब पहले नहीं किया तो अब तो पलायन का सवाल ही नहीं है। जिस दिन से बवाल हुआ, उस दिन से जो लोग हाता के बाहर किसी काम से चले गए वह भी वापस आ रहे हैं। पलायन की खबरें पूरी तरह भ्रामक हैं और हाता के लोगों में किसी भी प्रकार का डर नहीं है, क्योंकि सरकार उनके साथ है।



और भी पढ़ें :