जेल में आसाराम बापू का पोस्टर लगाकर बांटे कंबल, शुरू हुई जांच

पुनः संशोधित शुक्रवार, 25 दिसंबर 2020 (14:10 IST)
शाहजहांपुर। बलात्कार के आरोप में में बंद कथा वाचक आसाराम बापू का पोस्टर लगा कर जिला कारागार में बांटने तथा उनका महिमामंडन करने के मामले में जांच शुरू हो गई है। जेल अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।
उपमहानिरीक्षक (कारागार) आर. एन. पांडे ने शुक्रवार को बताया कि वह गुरुवार को जिला कारागार पहुंचे और उन्होंने करीब सात घंटे तक पूरे मामले की बारीकी से जांच की। पांडे ने बताया कि इस दौरान उन्होंने जेल अधीक्षक राकेश कुमार, जेलर राजेश कुमार तथा उप कारागार अधीक्षकों के बयान दर्ज किये।

उन्होंने बताया कि कारागार में अभिलेखीय साक्ष्य प्राप्त किए तथा आसाराम बापू के अनुयायियों द्वारा बांटी गई किताबें आज भी साक्ष्य के रूप में ली हैं। उन्होंने बताया कि गेटकीपर और वार्डन समेत दो दर्जन बंदियों से भी एक-एक कर पूछताछ की है।
पांडे ने बताया कि वह 2-3 दिन में जांच पूरी कर जेल महानिदेशक को रिपोर्ट सौंप देंगे।

गौरतलब है कि आसाराम बापू के अनुयायियों ने 21 दिसंबर को शाहजहांपुर के जिला कारागार में कैदियों को कंबल तथा आसाराम बापू की ऋषि पत्रिका का वितरण किया था। इस दौरान एक बड़ा पोस्टर लगाकर उस पर आसाराम के चित्र को भी दर्शाया गया था। इस कार्यक्रम के फोटो वायरल होने के बाद मामले की जांच कारागार उपमहानिरीक्षक को सौंपी गई थी। (भाषा)



और भी पढ़ें :