इस बार राखी पर बन रहे हैं क्या शुभ संयोग, जानिए यहां

: राखी या रक्षाबंधन का त्योहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार प्रतिवर्ष श्रावण माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। इसी दिन नारियल पूजन, कजरी पूनम, सत्य व्रत और लव कुश की जयंती भी रहती है। साथ ही यजुर्वेद उपाकर्म, हयग्रीव जयंती, श्रावण पूर्णिमा व्रत और अन्वाधान भी रहेगा। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त 2022 गुरुवार को मनाया जाएगा।


तिथि : चतुर्दशी सुबह 10:38 तक उसके बाद पूर्णिमा शुरु होगी जो अगले दिन 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 5 मिनट पर समाप्त होगी।

1. रवि योग : रवि योग सुबह 05:30 से 06:53 तक रहेगा।
2. आयुष्मान योग : 10 अगस्त 07:35 से 11 अगस्त दोपहर 03:31 तक।
3. सौभाग्य योग : 11 अगस्त को दोपहर 03:32 से 12 अगस्त सुबह 11:33 तक।
4. शोभन योग : घनिष्ठा नक्षत्र के साथ शोभन योग भी लगेगा।
Shubh Muhurta
शुभ मुहूर्त :

अभिजीत मुहूर्त : सुबह 11:37 से 12:29।
विजय मुहूर्त : दोपहर 02:14 से 03:07 तक।
गोधूलि मुहूर्त : शाम 06:23 से 06:47 तक।
सायाह्न संध्या मुहूर्त : शाम 06:36 से 07:42 तक।
अमृत काल मुहूर्त : शाम 06:55 से 08:20 तक।
नोट : रक्षाबंधन के दिन भद्रा भी रहेगी अत: इस काल का ध्यान रखकर ही राखी बांधें। भद्रा और राहुकाल में राखी नहीं बांधते हैं।



और भी पढ़ें :