क्‍यों हो रही हंसते- गाते लोगों की मौत, क्‍या यह पोस्‍ट कोविड इफेक्‍ट है?

raju kk
किस आदमी की सांस कैसे निकलती है, यह बहुत कम लोग ही देख पाते हैं, लेकिन पिछले कुछ वक्‍त में मौत के ऐसे दृश्‍य देखने को मिल रहे हैं, जिनमें हंसते, खेलते, गाते और जिम में वर्कआउट करते हुए लोगों की मौत हो रही है।

कॉमेडियन राजू श्रीवास्‍तव हो या मशहूर सिंगर केके। वहीं कुछ आम लोगों की मौत हंसते और नाचते हुए हो गई। मंगलवार की सुबह अनुभा उपाध्‍याय नाम की एक छात्रा की मौत योग करते हुए हो गई। वो अपने पैरों की उंगलियों पर खड़ी होकर एक तरह की योग क्रिया कर रही थी। मौत के यह दृश्‍य पोस्‍ट कोरोना युग यानी कोरोना से उबरने के बाद ही आ रहे हैं। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि कहीं ये कोरोना के बाद होने वाले इफैक्‍ट तो नहीं है।

अनुभा उपाध्‍याय : योग करते हुए मौत
बनारस के काशी हिंदू विश्वविद्यालय में एक छात्रा अनुभा उपाध्याय की योग करने के दौरान मौत हो गई। सुबह वह बिल्‍कुल फिट थी। कार्डियक अरेस्ट से मौत की आशंका जताई जा रही है। योग के दौरान वे अपने पैर की उंगलियों के बल पर खड़े होकर योग क्रिया कर रही थी।

राजू श्रीवास्‍तव : जिम में गिरे और गई जान
59 साल के मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को जिम में वर्कआउट के दौरान हार्ट अटैक आया था। ट्रेडमिल पर रनिंग करते समय उन्हें चेस्ट में पेन हुआ और वे नीचे गिर पड़े। इसके बाद तुरंत राजू को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 41 दिनों तक ICU में रहने के बाद 21 सितंबर को उनका निधन हो गया।

सिंगर केके : गाते हुए मौत
पिछले दिनों मशहूर सिंगर केके की कोलकाता में अपने शो पर फॉरर्मेंस के दौरान मौत हो गई। उनके बारे में कहा गया था कि उन्‍हें हार्ट अटैक आया था। बता दें कि केके बिल्‍कुल फिट थे और नियमित जिम जाते थे।

प्रभात कुमार : डांस करते उखड गईं सांसें
यूपी के बरेली में 45 साल के प्रभात कुमार अपने दोस्त के जन्‍मदिन पर एक हिंदी गाने पर डांस कर रहे थे। अचानक डांस करते-करते ही वह बेहोश होकर फ्लोर पर गिर पड़े। दोस्त उनको हॉस्पिटल ले गए। जहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया।

रवि शर्मा : स्‍टेज पर रोल निभाते गई जान
मैनपुरी में गणेश उत्सव चल रहा था। यहां स्टेज पर 35 साल के रवि शर्मा हनुमान की भूमिका निभा रहे थे। वह डांस करते-करते बेहोश होकर गिर गए और उठे ही नहीं। उनको भी तुरंत अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया।

क्‍या कहते हैं डॉक्‍टर्स
कोरोना के पहले ऐसे होने वाली मौतों के दृश्‍य नहीं दिखते थे, लेकिन अब यह बेहद आम हो गए हैं। ज्‍यादातर घटनाएं जिम में एक्‍सरसाइज करते हुए, किसी फंक्‍शन में नाचते हुए या कहीं स्‍टेज पर गाते या कोई भूमिका निभाते हुए हुई हैं। ऐसे में डॉक्‍टर कहते हैं कि एक्सरसाइज का तरीका नियमित होना चाहिए। एक दम से हैवी एक्‍सरसाइज नहीं करना चाहिए। धीरे-धीरे इसे बढ़ाना चाहिए। अपने स्‍टेमिना को धीरे धीरे बढाना चाहिए, ताकत को बढाना चाहिए। या जितना आपका स्‍टेमिना है, उतना ही उठापटक, ताकत का इस्‍तेमाल करना चाहिए।
विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड के दौरान सबसे ज्‍यादा फेफड़ा प्रभावित हुआ था, क्‍योंकि वही भाग संक्रमित हुआ था। ऐसे में जिम में वर्कआउट के दौरान, नाचने में, गाने में या किसी अन्‍य तरह के परफॉर्मेंस करने में फैफड़ों का ही इस्‍तेमाल ज्‍यादा होता है। ऐसे में यह सारी चीजें करते हुए पूरी सावधानी बरतना चाहिए।
डॉक्‍टरों का कहना है ऊपर से आदमी बिल्‍कुल ठीक और फिट नजर आता है। लेकिन जब वो इस तरह की हैवी एक्‍टिविटी करता है तो उसके शरीर का सबसे कमजोर हिस्‍सा प्रभावित हो जाता है, ऐसे में सावधानी न बरती जाए तो मौत हो सकती है।



और भी पढ़ें :